भोपाल

ट्रांस्को के जाबांज कर्मियों ने 45 मीटर ऊँचे 400 केव्ही के टावर पर लटके युवक रेस्क्यू कर बचाई जान

भोपाल डेस्क : 

मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कंपनी की अति उच्चदाब संधारण टीम विषम से विषम परिस्थितियों में कम से कम समय में विद्युत आपूर्ति बहाल करने में निपुण रही है। अपनी इस कार्यकुशलता के साथ कंपनी के कर्मियों ने मानवता की एक नई मिसाल पेश की है। गत दिवस अनूपपुर जिले के ग्राम बकेली में पावर ग्रिड की कोरबा बिरसिंहपुर 400 के.व्ही. लाइन के 45 मीटर ऊँचे विद्युत टावर में लटके युवक को बेहद कुशल तरीके से सुरक्षित नीचे उतारने का जोखिम भरा रेस्क्यू आपरेशन सफलतापूर्वक किया। ऊर्जा मंत्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने रेस्क्यू आपरेशन करने वाले कर्मचारियों की कार्यकुशलता एवं कर्त्तव्यनिष्ठा की सराहना की है।

ग्राम बकेली जिला अनूपपुर निवासी 35 वर्षीय रोहित सिंह कुछ घरेलू विवाद के चलते पावर ग्रिड के 45 मीटर ऊँचे टावर में चढ़ गया, जहाँ वह इंसुलेटर में फंस कर लटक गया था। युवक को रेस्क्यू करने मौके पर जिला कलेक्टर सहित तमाम प्रशासनिक अधिकारी उपस्थित हुए। सूचना मिलते ही म.प्र. पावर ट्रांसमिशन कम्पनी के शहडोल एवं चचाई में पदस्थ सहायक अभियंता मोनीष उइके भी पूरी टीम और जरूरी सामग्री के साथ घटना स्थल पर पहुँचे।

लाइन बंद करवाने की तमाम औपचारिकता होने के बाद बिना देरी किये मध्यप्रदेश पावर ट्रांसमिशन कम्पनी के सुनील पटेल, रामदयाल मेहरा एवं श्रवण कुमार कोल आवश्यक सामग्री लेकर टावर में चढे़ तथा इंसुलेटर के सहारे लटके रोहित सिंह को सेफ्टी वेल्ट और रस्सी के साथ सहारा दिया और उन्हें अपनी-अपनी कमर में रस्सी बांध कर धीरे-धीरे टावर से नीचे उतारा। यह कार्य बेहद जोखिम भरा था क्योंकि 400 के.व्ही. लाइन डिस्चार्ज नहीं की गई थी और ऐसे समय इस लाइन पर इंडक्शन का पूरा-पूरा खतरा रहता है पर म.प्र. पा. ट्रांस. कं. के कर्मियों ने हाट लाइन में कार्य करने के अपने अनुभव के सहारे यह कार्य पूरा किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!