भोपाल

प्रदेश में जमकर बरसेंगे बदरा भोपाल विदिशा रायसेन ग्वालियर सहित 29 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट , लबा लब भरे डैम तालाब

प्रदेशभर में पिछले दिनों हुई जोरदार बारिश के बाद सभी डैम लबालब हो चुके हैं। इनमें भोपाल का भदभरा, खंडवा का ओंकारेश्वर, जबलपुर का बरगी, होशंगाबाद का तवा डैम भी शामिल हैं। इंदौर में रविवार को जमकर बारिश हो सकती है। 21 अगस्त को मानसून बादल मालवा-निमाड़ की तरफ शिफ्ट हो जाएंगे।

मध्यप्रदेश में चार दिन के बाद आज शनिवार से सिस्टम फिर एक्टिव हो रहा है। भोपाल, नर्मदापुरम, महाकौशल, ग्वालियर-चंबल और बुंदेलखंड-बघेलखंड में जोरदार बारिश के आसार हैं। मौसम विभाग ने भोपाल समेत 29 जिलों में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है। इंदौर में रविवार को जमकर बारिश हो सकती है। रीवा, सीधी, सिंगरौली और सतना में रेड अलर्ट यानी भारी बारिश होने की संभावना है। 20 अगस्त को यहां होगी भारी बारिश महाकौशल से 20 अगस्त से तेज बारिश का दौर शुरू होगा। इससे दो दिन महाकौशल, बुंदेलखंड और बघेलखंड में जोरदार बारिश की संभावना है।

भोपाल, रायसेन, विदिशा, खंडवा, अशोकनगर, गुना, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योपुरकलां, उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, कटनी, छिंदवाड़ा, जबलपुर, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, निवाड़ी और नर्मदापुरम में भारी होगी।21 अगस्त को शिफ्ट हो जाएगा मानसून21 अगस्त को भी नर्मदापुरम, हरदा, बैतूल छतरपुर, सागर, टीकमगढ़, पन्ना, दमोह, निवाड़ी, बालाघाट, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, कटनी, छिंदवाड़ा, जबलपुर, गुना, ग्वालियर, शिवपुरी, दतिया, भिंड, मुरैना, श्योपुरकलां, शहडोल, अनूपपुर, अशोकनगर, उज्जैन, शाजापुर, रतलाम, नीमच, मंदसौर, आगर मालवा, खंडवा, इंदौर, धार, सीहोर, विदिशा, राजगढ़, भोपाल और रायसेन में कहीं-कहीं भारी और कहीं-कहीं भारी से भारी बारिश हो सकती है।

21 को ही मानसूनी बादल मालवा-निमाड़ की तरफ शिफ्ट हो जाएंगे। 22 अगस्त से बारिश का जोर कम हो जाएगा। हालांकि, कहीं-कहीं हल्की रिमझिम 24 अगस्त तक हो सकेगी।कुछ इलाकों में सामान्य से 20% कम बारिश मध्यप्रदेश में सामान्य तौर पर करीब 27 इंच बारिश होती है। अब तक करीब 31 इंच बारिश हो चुकी है। यह सामान्य से करीब 17% ज्यादा है। मध्यप्रदेश के मध्य क्षेत्र जैसे भोपाल, राजगढ़, देवास, बैतूल, छिंदवाड़ा, सीहोर, हरदा, नर्मदापुरम, बुरहानपुर, और श्योपुरकलां में सबसे ज्यादा बारिश हुई है। यहां सामान्य से करीब 50% से ज्यादा पानी अब तक गिर चुका है। हालांकि अभी भी बुंदेलखंड का दमोह, टीकगमगढ़, निवाड़ी, छतरपुर, पन्ना और बघेलखंड का रीवा, सतना, सीधी, सिंगरौली, उमरिया और शहडोल के अलावा ग्वालियर चंबल के ग्वालियर, मुरैना और देवास में सूखे के हालात बन गए हैं। यहां पर सामान्य से 20% से भी ज्यादा बारिश कम हुई है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!