विदिशा

4 महीने पहले शुरू हुए पुल की दोनों छोर की साइड एप्रोच दीवारो में दरारें, 3-4 फीट गहरे गड्ढे हुए, आबागमन बंद। 

दो दिन कि बाढ़ के बाद का भयानक मंजर

 आनंदपुर डेस्क :

3-4 दिन दिन से हो रही लगातार बारिश के चलते आम जनों का जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है आनंदपुर के दोनों और एक और कांदई नदी तो दूसरी ओर सिंध नदी ने बड़ी तबाही मचाई है सिंध नदी ने एक दर्जन से अधिक गांवों को कांदई नदी से आधा दर्जन से अधिक गांव बहुत ही ज्यादा नुकसान पहुंचाया हैं जिसके कारण आम नागरिकों के घर खाने पीने का सामान और मवेशी को भारी नुक्सान हुआ है इसी में सद्गुरु सेवा संघ ट्रस्ट के नजदीक कांदई नदी पर बने पुल की दोनों और की साइट की एप्रोच दीवारें भी भीषण बाढ़ की चपेट के चलते बह गई। 

4 महीने पहले ही शुरू हुआ था पुल

 उल्लेखनीय है कि यह पुल अभी तीन-चार माह पहले ही बनकर तैयार हुआ था बार बार अधिकारियों से कहने के बाद भी पुल की दोनों और की साइड एप्रोच दीवार सही से नहीं बनाई और न ही उसमें पूरी तरह से मुरमा भरवा  गया जिसके चलते नदी के तेज बहाव के कारण दोनों ओर की  साइड एप्रोच दीवार में दरारे आ गई और मुरमा बह गया है और यह मार्ग आवागमन के लिए पूरी तरह से बंद हो गया है ठेकेदार द्वारा इतनी लापरवाही से कार्य किया गया है कि पुल की गुणवत्ता का हाल अपनी आंखों से देख कर अपने आप समझ में आ जाता है इसमें जगह-जगह दरारें भी आ चुकी है ग्रामीण जनों का कहना है कि यह पुल बमुश्किल दो-तीन वर्ष भी टिक जाए तो बहुत बड़ी बात है कभी भी धराशाई हो सकता है जिसके चलते कोई बड़ी जनहानि की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। 

जैसे ही सुबह पानी बरसना बंद हुआ सद्गुरु नगर के डॉक्टर  कोणार्क कनौजिया अपने साथियों को लेकर  नदी देखने पहुंचे तो देखा कि इसकी जो एप्रोच दीवार है वह बहुत ही घटिया तरीके से बनाई गई है और कम से कम यह दीवारें 20- 20 फीट लंबाई की बनाना चाहिए था वह भी 5 से 8 फीट लंबी ही बनाई गई हैं और इसमें जो मुरमा भरा हुआ था वह भी पूरी तरह से बह गया है और पुल में बड़े-बड़े गड्ढे हो गए जिसके चलते कोई भी चार पहिया वाहन नहीं निकल सकता। 

 सिरोंज पीडब्ल्यूडी के एसडीओ अरविंद पाठक ने बताया कि मुझे जानकारी मिल गई है कि सदगुर  नगर की कांदई नदी के पर की एप्रोच दीवारों में दरार आ गई है और सारा मुरमा रह गया है जल्द ही इसे ठीक करवाता। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!