भोपाल

मुख्यमंत्री निवास में हुआ “मुख्यमंत्री की बात पथ विक्रेताओं के साथ” कार्यक्रम : पढ़ाई, लिखाई, दवाई और रोजगार के समुचित प्रबंध करेंगे, प्रदेश के अन्य नगरों में भी पथ विक्रेताओं को योजनाओं का लाभ दिलावाएंगे

प्रदेश के पथ विक्रेताओं के कल्याण के लिए बहुउद्देशीय शिविर लगाकर उन्हें लाभान्वित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि प्रदेश के अन्य नगरों में भी पथ विक्रताओं को सभी योजनाओं का लाभ दिलाने के प्रयास किए जाएंगे। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आज निवास पर “मुख्यमंत्री की बात पथ विक्रेताओं के साथ” कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे।

मुख्यमंत्री ने कहा कि आज यहाँ जो स्ट्रीट वेंडर्स आए हैं उनमें से अधिकांश प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा प्रारंभ पीएम स्वनिधि योजना से लाभान्वित हो चुके हैं। इनमें चाट का ठेला लगाने, सब्जी बेचने, गोबर के दीपक और मूर्तियाँ बनाने वाले, फल विक्रेता, चाय-नाश्ते का ठेला लगाने वाले, सिलाई कार्य करने वाले, बैग और रजाई बनाने का कार्य करने वाले, आर्टिफिशियल ज्वेलरी बेचने वाले, ठेले पर कपड़े बेचने वाले और मोची का कार्य करने वाले शामिल हैं। अनेक हितग्राहियों ने लिया गया ऋण चुका कर दोबारा दोगुना ऋण प्राप्त कर लिया है। यह इनके आत्म-निर्भर बनने की आकांक्षा का परिचायक है। राज्य सरकार स्ट्रीट वेंडर्स को अधिक से अधिक योजनाओं से लाभान्वित करने के लिए प्रतिबद्ध है।

स्ट्रीट वेंडर्स से भी चर्चा की

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जहांगीराबाद में काम करने वाले रत्नेश से उनके कार्य के बारे में पूछा। उनकी बेटी दाक्षी ने कार्यक्रम में राधा की भूमिका में प्रस्तुति दी। रत्नेश ने कहा कि उन्हें कोविड संक्रमण काल के समय योजना से 10 हजार रूपये का सहारा मिला। पीएम निधि योजना के अनुसार ऋण चुकाने पर उन्हें 20 हजार रूपये का ऋण प्राप्त हुआ। उनकी बिटिया दाक्षी की नृत्य में रूचि रही है। कक्षा पहली में पढ़ने वाली दाक्षी आगे चल कर पुलिस में नौकरी करना चाहती है। पंचवटी निवासी सब्जी और फल विक्रेता राजू राव से भी चर्चा की। राजू ने भी योजना में 10 हजार रूपये का ऋण चुकता कर दोबारा 20 हजार की राशि ऋण के रूप में प्राप्त की है। कोरोना के समय उन्हें मुफ्त राशन योजना का लाभ भी मिला। उनका आयुष्मान कार्ड भी बना हुआ है। राजू ने स्थाई रूप से स्थान दिलवाने का अनुरोध किया, जिस पर मुख्यमंत्री चौहान ने कलेक्टर भोपाल को निर्देश दिए।

योजनाओं का प्रचार करेंगे कठपुतली कलाकार

कठपुतली कलाकार नरेश भट्ट ने लघु नाटिका कठपुतली के माध्यम से प्रस्तुत की। प्रस्तुति में कोरोना काल और उसके बाद एक बड़े वर्ग को प्रधानमंत्री स्वनिधि योजना और अन्य योजनाओं से मिले लाभ के बारे में रोचक जानकारी दी गई। मुख्यमंत्री ने कहा कि कठपुतली कलाकारों का शासन की योजनाओं के प्रचार-प्रसार में उपयोग किया जाएगा।

स्वास्थ्य शिविर लगेंगे

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पथ विक्रेताओं के कार्य-स्थल के पास ही स्वास्थ्य शिविर लगा कर उनका स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा, जिससे वे अचिन्हित बीमारियों के बारे में जान कर उपचार करवा सकें। इसमें स्वास्थ्य विभाग के साथ नगर निगम और जिला प्रशासन का सहयोग भी रहेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि एक माह का कार्यक्रम निर्धारित कर भिन्न-भिन्न स्थानों पर स्वास्थ्य शिविर लगाए जाएंगे।

दर्शना की संघर्ष की कहानी ने मुख्यमंत्री को किया भावुक

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल निवासी श्रीमती दर्शना बागी से बातचीत की। उन्होंने बताया कि वह अयोध्या नगर क्षेत्र में अपने बेटे और बेटी के साथ रहती है। पुराने कपड़ों से बैग आदि तैयार करती हैं। पति महेश बागी पत्रकारिता से जुड़े थे, जिनकी 5 वर्ष पूर्व मृत्यु हो गई। परिवार संकट में आ गया था। मुश्किल से बेटे की डिग्री पूरी हुई। संतोष की बात है कि 19 वर्ष के बेटे को हाल ही में बैंगलुरू में नौकरी मिल गई है। साढ़े सात लाख रूपए सालाना का पेकेज है। बिटिया कक्षा 12वीं में पढ़ती है। परिवार को काफी संघर्ष करना पड़ा। आज इस कार्यक्रम में आकर अभिभूत हैं। ऐसा सम्मान पहले कभी प्राप्त नहीं हुआ। पहली बार मुख्यमंत्री निवास देखने को मिला। मुख्यमंत्री दर्शना की संघर्ष की कहानी सुन कर भावुक भी हुए और विपरीत परिस्थितियों में परिवार के हित में डटे रहने के उनके जज्बे की प्रशंसा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोशिश करने वालों की कभी हार नहीं होती। दर्शना का जीवन इस बात का प्रतीक है।

चित्रकला के अद्भुत नमूनेमु

ख्यमंत्री ने दीपक, रागिनी, स्वाति, दिनेश, सोनम, अनिल, अनुष्का, अनिकेत, अभिका और वैदेही द्वारा बनाई गई प्राकृतिक पेंटिंग पोर्ट्रेट और अन्य कलात्मक चित्रों की सराहना की। मंच पर सभी चित्र प्रदर्शित किए गए। प्रमुख रूप से गणेश जी, राधा-कृष्ण, कन्हैया, भगवान बुद्ध, हर घर तिरंगा अभियान, गांधीजी का चित्र और मुख्यमंत्री श्री चौहान के चित्र बच्चों ने बनाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बच्चों को उपहार प्रदान किए और बच्चों के साथ फोटो और सेल्फी खिंचवाते हुए उनसे बातचीत की। उन्हें स्नेह और आशीर्वाद भी दिया।बहुउद्देशीय

शिविर करेंगे पथ विक्रताओं को लाभान्वित

मुख्यमंत्री ने कहा कि हम सभी का दायित्व है कि स्ट्रीट वेंडर्स को उनके हित लाभ की योजनाओं से लाभान्वित करें। स्वास्थ्य शिविर के साथ बहुउद्देशीय शिविर भी लगाए जाएँ, जिनमें केंद्र और राज्य सरकार की योजनाओं का लाभ वंचित हितग्राहियों को दिलवाना सुनिश्चित करें। राशन वितरण योजना, बच्चों की शिक्षा के लिए सहायता, नि:शुल्क किताबें और छात्रवृत्ति का लाभ भी दिलवाए। पात्र बच्चों को लाभान्वित करें। भोपाल में कच्चे मकान में रहने वाले भाइयों को पक्के मकान दिलवाने का कार्य किया जाएगा। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि स्ट्रीट वेंडर्स के जीवन स्तर में गुणात्मक सुधार लाया जाए। इसके लिए आवश्यक प्रबंध किए जाएंगे। अभियान के तौर पर यह कार्य किया जाएगा। पढ़ाई, लिखाई और दवाई के समुचित प्रबंध होंगे। अब तक वंचित रहे हितग्राहियों को आवास योजना का लाभ दिया जाएगा।मुख्यमंत्री को स्ट्रीट वेंडर्स ने अपनी ओर से स्मृति-चिन्ह भेंट किए। अंत में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आमंत्रित सभी स्ट्रीट वेंडर्स और उनके परिजन के साथ स्वल्पाहार ग्रहण किया। हाथ ठेला की छोटी प्रतिकृति भी प्रतीक स्वरूप मुख्यमंत्री को भेंट की गई। मुख्यमंत्री की धर्मपत्नी श्रीमती साधना सिंह, विधायक रामेश्वर शर्मा, श्रीमती कृष्णा गौर, भोपाल की महापौर श्रीमती मालती राय, पूर्व महापौर आलोक शर्मा, नगर निगम अध्यक्ष किशन सूर्यवंशी, समाजसेवी सुमित पचौरी और अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!