इंदौर

आखिर ऐसा क्या कहा महापौर ने जिससे महिला सफाईकर्मी को भी इसकी कल्पना नहीं थी , और आंखों में आ गए आंसू।

इंदौर डेस्क :

आजादी के 75 वी वर्षगांठ के उपलक्ष में देशभर  आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत हो रहे हैं स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर सोमवार 15 अगस्त को गरिमामय कार्यक्रम आयोजित किए गए। इसी कड़ी में इंदौर महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने अपने निवास सुदामा नगर में झंडावंदन कार्यक्रम में इसी कॉलोनी में सालों से झाड़ू लगाने वाली अर्चना राजेश खरे को अतिथि बतौर आमंत्रित किया। महापौर ने सहृदयता दिखाते हुए उक्त महिला सफाईकर्मी से ध्वजारोहण करवाया। दरअसल महिला सफाईकर्मी को भी इसकी कल्पना नहीं थी लेकिन जब महापौर ने उनसे कहा कि आप झंडा वंदन कीजिए तो उसे बड़ा अचरज हुआ। उसने झण्डा फहराया तो सभी ने तालियां बजाई लेकिन महिला रोने लगी। इस पर उन्होंने महिला से पूछा कि आप रो क्यों रही हो? तो उसने आंसू पोंछते हुए कहा कि ये खुशी के आंसू हैं। गौरतलब है कि शपथ समारोह में भी महापौर मंच से उतरकर सफाईकर्मियों के बीच गए थे और उनका अभिवादन स्वीकारा था। इस पर सफाईकर्मियों ने तब भी खुद को काफी गौरवान्वित महसूस किया था। 

मुख्य समारोह में गृहमंत्री ने झंडा फहरा कर परेड की सलामी

इसके पूर्व मुख्य समारोह आरएपीटीसी ग्राउंड महेश गार्ड लाइन परिसर में सुबह 9 बजे शुरू हुआ। इसमें जिले के प्रभारी तथा प्रदेश के गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने ध्वजारोहण किया। उन्होंने खुली जीप में परेड का निरीक्षण किया। इस दौरान उनके साथ कलेक्टर मनीष सिंह तथा एडिशनल कमिश्नर मनीष कपूरिया भी थे। समारोह में डॉ. मिश्रा ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के संदेश का वाचन किया। समारोह में सशस्त्र बलों ने स्वतंत्रता दिवस अमर रहे के नारों के साथ हर्ष फायर किए। खुले आकाश में रंगीन गुब्बारे छोड़े गए।

गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने सोमवार को महाराणा प्रताप नगर स्थित अहिल्या आश्रम शासकीय विद्यालय क्र-2 में पहुंचकर बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किया। इस अवसर पर कलेक्टर मनीष सिंह, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता, जिला पंचायत की सीईओ वंदना शर्मा सहित अन्य अधिकारी भी विशेष रूप से मौजूद थे। स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर बच्चों को मध्यान्ह भोजन में विशेष रूप से खीर, पूरी, लड्डू, छोले की सब्जी आदि परोसे गए।

महापौर ने इलेक्ट्रॉनिक कचरा गाड़ियों की शुरुआत 

महापौर पुष्यमित्र भार्गव ने “ग्रीन इंदौर-क्लीन इंदौर’ की ओर कदम बढ़ाते हुए इंदौर नगर निगम ने शहर की कई कचरा गाड़ियों को डीजल से इलेक्ट्रॉनिक गाड़ी में तब्दील करवाया है। उन्होंने इस मौके पर इलेक्ट्रॉनिक कचरा गाड़ियों को फीता काटकर रवाना किया। उन्होंेने कहा कि ऐसे ही प्रयासों से पर्यावरण संरक्षण में भी हम पूरे विश्व के लिए मिसाल बनेंगे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!