रायपुर

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल से युवक ने कहा स्कूली बच्चों के लिए सड़क नहीं.. मुख्यमंत्री ने दी तत्काल स्वीकृति, भेंट मुलाकात कार्यक्रम के अंतर्गत रायगढ़ के नवापारा पहुंचे थे

रायपुर डेस्क :

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल लोगों की समस्याओं के तत्काल निराकरण के लिए जाने जाते हैं । ऐसा ही नजारा रायगढ़ जिले के नवापारा(अ) गांव में देखने को मिला जब वे लोगों से भेंट मुलाकात कार्यक्रम में मिलने पहुँचे । कार्यक्रम में एक युवा सुरेंद्र कुमार ने बताया कि सोडेकेला गांव में सड़क नही है , बच्चों को कीचड़ से होकर स्कूल जाना होता है , कृपया सड़क बनवा दें, स्कूली बच्चों की सुविधा के लिए  मुख्यमंत्री ने तत्काल स्वीकृति प्रदान करते हुए सड़क बनवाने के निर्देश जारी कर दिए ।
इसी प्रकार मुख्यमंत्री ने लारा एनटीपीसी में प्रभावित बेरोजगार युवाओं की मांग पर कहा कि आपके संघर्ष में मैं भी साथ देने आया था, पता चला है कि कुछ लोगों को नौकरी मिल गयी है । बाकी सभी लोगों के लिए लारा एनटीपीसी के अधिकारियों को निर्देश देंगे कि प्रभावित योग्य लोगों को तत्काल रोजगार उपलब्ध कराएं ।
उल्लेखनीय है कि गुरुवार को  कुछ माह के अंतराल के बाद फिर से भेंट मुलाकात कार्यक्रम की शुरुआत रायगढ़ के नवापारा (अ) से हुई । ग्रामीणों को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि राज्य में पिछले पौने 4 साल में अभूतपूर्व विकास हुए हैं। गरीब, किसान और महिलाओं के हित में अनेक निर्णय लिए गए हैं। सभी लोगों को आगे आकर इनका लाभ उठाना चाहिए। उन्होंने बताया कि किसानों के लिए पहले केवल 1300 सहकारी समितियां थीं। किसानों की सुविधा के लिए इसे बढ़ाकर लगभग 2000 किया गया है।राजीव गांधी किसान न्याय योजना से किसानों का हौसला बढ़ा है। उत्साह के साथ अब खेती करने लगे हैं। इसलिए 4 साल पहले जहां लगभग 70 लाख मीट्रिक टन धान की खरीदी होती थी वह बढ़कर अब 98 लाख मीट्रिक टन हो चुका है। श्री बघेल ने कहा कि गोधन न्याय योजना लोगों की समृद्धि के महत्वपूर्ण कारक साबित हो रहे हैं। गोठान में एक जगह मवेशियों के संकलाने से अनेक फायदे हैं।
मुख्यमंत्री ने कहा कि छत्तीसगढ़ में लोगों की मांग पर 400 और आत्मानंद स्कूल खोले जायेंगे। फिलहाल 279 स्कूलों में लाखों बच्चों को गुणवत्तायुक्त शिक्षा दी जा रही है। भेंट मुलाकात कार्यक्रम में मुख्यमंत्री  को किसान बसन्त कुमार ने बताया कि मुझे राजीव गांधी किसान न्याय योजना की 94 – 94 हजार की दो क़िस्त मिली हैं । इसके साथ ही बिजली बिल में अब तक 9 हजार 194 रु की छूट मिल चुकी है । मेरा 70 हजार का कर्जा भी माफ हुआ है । इस पर मुख्यमंत्री ने चुटकी लेते हुए कहा कि इतना फायदा हुआ तो बहू को भी कुछ लाकर दो ।
कार्यक्रम में  लाल कुमार पटेल ने बताया कि गोधन न्याय योजना बहुत अच्छी है । मैं हर महीने 36 हजार का गोबर बेचता हूं। इस पैसे से अच्छे से घर- परिवार चल रहा है । मुख्यमंत्री से मृत्युंजय कुमार ने कहा कि हरियाली योजना से बहुत लाभ हुआ है, मैंने 5 हजार सागौन के पेड़ लगाए हैं । इससे 15 साल बाद करीब 4 करोड़ का फायदा होगा । मुझे राजीव गांधी किसान न्याय योजना  का 32 हजार 300 रु का  लाभ मिला है । मुख्यमंत्री ने किसान को लगाए गए पौधों की जानकारी पट्टे में दर्ज कराने को कहा ताकि बाद में वृक्ष काटकर बेचने में कोई दिक्कत न आए।
समारोह को स्कूल शिक्षा मंत्री एवं जिले के प्रभारी मंत्री प्रेमसाय सिंह टेकाम, उच्च शिक्षा मंत्री उमेश पटेल और स्थानीय विधायक प्रकाश नायक ने भी संबोधित किया ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!