भोपाल

कोई भी आमजन वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में वन्य-प्राणियों को ले सकते हैं गोद, क्या पूरी प्रोसेस

भोपाल डेस्क :

वन विहार राष्ट्रीय उद्यान में वन्य-प्राणियों को गोद लेने की योजना एक जनवरी, 2009 को शुरू की गई थी। वन्य-प्राणियों को गोद लेने की यह योजना जन-जन में वन्य-प्राणियों के संरक्षण के प्रति सद्भावना के लिये प्रारंभ की गई है। कोई भी व्यक्ति अथवा संस्था वन विहार के बाघ, सिंह, तेंदुआ, भालू, हायना, जैकाल, मगरमच्छ, घड़ियाल एवं अजगर में से किसी भी वन्य-प्राणी को मासिक, त्रैमासिक, अर्द्ध-वार्षिक एवं वार्षिक आधार पर गोद ले सकता है। गोद लेने वाले वन्य-प्राणियों का विवरण एवं राशि निम्नानुसार है:-

प्रजातिवार्षिक व्ययअर्द्ध-वार्षिक व्ययत्रैमासिक व्ययमासिक व्यय
बाघ2000001000005000017000
सिंह2000001000005000017000
तेंदुआ10000050000250009000
भालू10000050000250009000
लकड़बग्घा3600019000100004000
जैकाल300001600090003500
मगर3600019000100004000
घड़ियाल5000026000140005000
अजगर800045002300800

वन्य-प्राणियों को गोद लेने के लिये निर्धारित राशि “एक्जिक्यूटिव डायरेक्टर मध्यप्रदेश टाइगर फाउण्डेशन सोसायटी वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल’’ के नाम भोपाल में देय चेक अथवा बैंक ड्रॉफ्ट के माध्यम से जमा कर निर्धारित प्रारूप पर आवेदन करना होता है। गोद लेने के लिये भुगतान की गई राशि आयकर की धारा-80 जी (एस) के प्रावधानों के अंतर्गत छूट के दायरे में आती है। संबंधित को भुगतान की गई राशि का 10 प्रतिशत की राशि का नि:शुल्क प्रवेश पास की सुविधा प्रदान की जाती है। संबंधित के नाम की पट्टिका गोद लिये गये वन्य-प्राणी के बाड़े के समक्ष एवं दोनों प्रवेश द्वारों पर लगाई जाती है।

संचालक वन विहार राष्ट्रीय उद्यान भोपाल ने आमजन एवं स्थानीय संस्थाओं से अनुरोध किया है कि वन विहार में मौजूद वन्य-प्राणियों बाघ, सिंह, तेंदुआ, भालू, लकड़बग्घा, जैकाल, मगर, घड़ियाल एवं अजगर आदि को गोद लेकर इस योजना में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करते हुए पर्यावरण के प्रति अपने दायित्व का निर्वहन कर सकते हैं। निजी संस्था यह कार्य अपने सीएसआर गतिविधियों के अंतर्गत कर सकते हैं। वन्य-प्राणी को गोद लेने के साथ-साथ वन विहार के अन्य विकास कार्य के लिये सीएसआर गतिविधियों के अंतर्गत निजी संस्था एवं अन्य सार्वजनिक उपक्रमों को भागीदारी के लिये आमंत्रित किया जा रहा है। विस्तृत जानकारी के लिये ईमेल dirvvnp.bpl@mp.gov.lin एवं मोबाइल नम्बर सहायक संचालक-9424790615 एवं प्रबंध शाखा प्रभारी-9424790613 पर सम्पर्क कर सकते हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!