भोपाल

मध्यप्रदेश के दो शिक्षकों ने बड़ाया प्रदेश का मन, राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से हुए सम्मानित

राष्ट्रपति श्रीमती मुर्मु ने शिक्षकों को प्रदान किए राष्ट्रीय पुरस्कार
प्रधानमंत्री मोदी ने पुरस्कार विजेताओं से की बातचीत
मुख्यमंत्री चौहान ने पुरस्कार विजेताओं को दी शुभकामनाएँ

भोपाल डेस्क :

राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मु ने आज विज्ञान भवन नई दिल्ली में मध्यप्रदेश के दो शिक्षकों नीरज सक्सेना और ओमप्रकाश पाटीदार को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2022 से सम्मानित किया। केंद्रीय शिक्षा मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, शिक्षा राज्य मंत्री श्रीमती अन्नपूर्णा देवी और डॉ. सुभाष सरकार भी उपस्थित थे। इस वर्ष देश के 45 शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया गया है।

रायसेन जिले के शासकीय प्राथमिक शाला सालेगढ़ में पदस्थ शिक्षक नीरज सक्सेना को जनजाति इलाके में शिक्षा के स्वरूप को बदलने के लिए राष्ट्रीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। उनके जुनून की बदौलत भील जनजाति क्षेत्र के बच्चों के शैक्षणिक स्तर में वृद्धि हुई है। बुनियादी आवश्यकताओं में सुधार कर उन्होंने एक आदर्श स्कूल स्थापित किया है। 

शाजापुर जिले के शासकीय उत्कृष्ट विद्यालय में पदस्थ विज्ञान के लेक्चरर ओमप्रकाश पाटीदार ने शाजापुर के लिए लोक जैवविविधता पंजी तैयार करवाई है। उन्होंने विज्ञान को तकनीक से जोड़ कर आईसीटी का प्रयोग करते हुए विज्ञान जैसे कठिन विषय को विद्यार्थियों के लिए बेहद सरल बना दिया है।

एक अन्य कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार-2022 के पुरस्कृत शिक्षकों से अपने निवास 7, लोक कल्याण मार्ग पर बातचीत की।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश के दोनों शिक्षकों को राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार जीतने पर बधाई देते हुए अपने ट्वीट संदेश में कहा है – “राष्ट्रपति श्रीमती द्रौपदी मुर्मू द्वारा रायसेन जिले के शिक्षक नीरज सक्सेना और शाजापुर जिले के ओमप्रकाश पाटीदार को शिक्षा की गुणवत्ता को मजबूती देने के लिए राष्ट्रीय शिक्षक पुरस्कार से सम्मानित किया जाना मध्यप्रदेश के लिए गौरव का विषय है। आपको हार्दिक शुभकामनाएँ।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!