न्यूज़ डेस्क

प्रदेश में बदला मौसम, राजधानी भोपाल में तेज बारिश, आगर में गिरे ओले: इंदौर समेत कई जिले भीगे, धार में गाज गिरने से महिला की मौत

न्यूज़ डेस्क :

मध्यप्रदेश में शनिवार की शाम अचानक मौसम बदल गया। भोपाल में शाम को बादल छाने के बाद तेज बारिश होने लगी। रतलाम, बैतूल और राजगढ़ में भी तेज बारिश हुई है। आगर जिले के नलखेड़ा में ओले गिरे। इंदौर में तेज हवा के साथ बूंदाबांदी हुई। ग्वालियर में आंधी चली। प्रदेश के कई इलाकों में सुबह से बादल छाए रहे। इधर धार में आकाशीय बिजली गिरने से एक महिला की मौत हो गई।

तेज आंधी और बारिश के कारण शाजापुर जिले के शुजालपुर और खंडवा में खेतों में खड़ी गेहूं की फसल बिछ गई। साथ ही लहसुन, प्याज, गेहूं और मसूर की फसल को भी नुकसान पहुंचने की आशंका है।

मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि बारिश और बादल छाने के बावजूद दिन व रात के तापमान में ज्यादा अंतर नहीं आएगा। 7 मार्च के बाद गर्मी का असर बढ़ेगा। रविवार को भी ऐसा ही मौसम रहेगा।

जानिए कहां क्या स्थिति रही

खरगोन में शनिवार शाम करीब साढ़े 5 बजे हल्की बारिश शुरू हो गई। करीब 10 मिनट से ज्यादा बूंदाबांदी का दौर चला। वैसे सुबह मौसम साफ था, लेकिन दोपहर बाद अचानक से बादल छा गए और गरज-चमक के साथ बारिश शुरू हो गई। अशोकनगर में भी सुबह से ही बादल छाए हुए थे। शाम होते-होते अचानक तेज आंधी चलने लगी।

धार में भी मौसम में अचानक परिवर्तन देखा गया। जिले की सरदारपुर तहसील में दोपहर को बारिश हुई। जिससे किसानों की चिंता बढ़ गई। दरअसल वर्तमान में गेहूं की फसल पककर खेतों में खड़ी हुई है। वहीं, कुछ स्थानों पर फसल कटने के बाद खेतों में ही रखी हुई है। ऐसे में बेमौसम बारिश ने किसानों की परेशानी बढ़ा दी है।

अचानक बारिश के साथ गिरे ओले

आगर-मालवा जिले के नलखेड़ा में भी तेज आंधी के साथ बारिश हुई। साथ ही क्षेत्र के कुशलपुरा गांव में ओले भी गिरे। यहां पिछले तीन दिनों से बादल छाए हुए हैं। शाजापुर के अकोदिया क्षेत्र में भी बादल छाए और तेज हवाएं चली। रतलाम जिले के जावरा क्षेत्र के पिपलौदा में दोपहर बाद बारिश हुई। यहां करीब 20 मिनट तक बूंदाबांदी हुई।​​​

आकाशीय बिजली गिरने से महिला की मौत
धार में शनिवार को खेत पर काम कर रही महिला पर आकाशीय बिजली गिरने से उसकी मौत हो गई। घटना जिले के बरमंडल पंचायत के मजरे नाहरखाली गांव में हुई। जानकारी के अनुसार गुड्डीबाई पति मुन्नालाल अपने परिवार के साथ खेत पर गेहूं कटाई का कार्य करवा रही थी। तभी करीब 4 बजे मौसम बदला, बादलों की गरज के साथ आकाशीय बिजली गिरी। जिससे गुड्डी बाई अचेत हो गई। परिजन उसे अस्पताल ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया।

रायसेन व बैतूल में भी बदला मौसम

रायसेन में दो दिन में दूसरी बार बूंदाबांदी हुई। जिले में इन दिनों खेतों में चने की फसल की कटाई का काम चल रहा है। वहीं गेहूं की फसल भी कई जगह पक कर कट चुकी है। बारिश की आशंका से किसान चिंतित हो गए हैं। बैतूल में भी शनिवार शाम को अचानक बादल छा गए और तेज हवाएं चलने लगीं। गरज-चमक के साथ करीब 5 मिनट तक बारिश होती रही।

हार्वेस्टर से नहीं हो सकेगी कटाई

शुजालपुर के किसान संतोष राजपूत ने बताया कि गेहूं की कटाई भी शुरू हो चुकी है। बारिश के कारण गिरे हुए गेहूं के रंग पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ने की आशंका है, जिससे फसल का भाव कम मिलेगा। कई जगह तेज हवा से खेतों में खड़ी गेहूं की फसल आड़ी भी हो गई। जिससे अब किसानों को फसल की कटाई हार्वेस्टर मशीन की जगह मजदूर लगाकर ही कराना पड़ेगी।

रविवार को भी प्रदेश में बादल छाए रहने की उम्मीद है, जबकि सभी जगह हल्की बारिश होगी। सोमवार को भी भोपाल में हल्की बारिश के आसार हैं। हालांकि, दिन और रात के तापमान में ज्यादा गिरावट होने की संभावना नहीं है। दिन में 34-35 और रात में तापमान 18-19 डिग्री के आसपास रहेगा।

इस वजह से छाए बादल

मौसम वैज्ञानिक एसएच पांडे ने बताया कि उत्तर भारत में पश्चिमी विक्षोभ एक्टिव है। साथ में दक्षिण-पश्चिम हवाएं मध्यप्रदेश में पहुंच रही है। इससे अरब सागर से गर्म और नम हवाएं आ रही है। मौसम बदलने से महाराष्ट्र थोड़ा गर्म है। वहां से गर्म और उत्तर से ठंडी हवाओं का प्रवेश हो रहा है। दोनों के मिश्रण में सेंट्रल इंडिया में क्लाउड फार्मेशन हो रहा है। इसी वजह से प्रदेश में मौसम का मिजाज बदला सा रहेगा।

इन जिलों में रहेगा असर

मौसम में बदलाव से प्रदेश के दक्षिणी हिस्से में बारिश का दौर शुरू होगा। 4 और 5 मार्च को भोपाल, इंदौर, उज्जैन और नर्मदापुरम संभाग में हल्की बारिश होगी। वहीं, 6 और 7 मार्च को सागर, रीवा, शहडोल और जबलपुर में हल्की बारिश होने की उम्मीद है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!