भोपाल

मुख्यमंत्री ने “माँ तुझे प्रणाम योजना’’ में युवाओं को वाघा बॉर्डर की यात्रा के लिए रवाना करने से पहले युवाओं के साथ पौध-रोपण किया

युवा पंचायत के सभी निर्णय होंगे क्रियान्वित : मुख्यमंत्री

भोपाल डेस्क :

युवा पंचायत में लिए गए सभी निर्णयों के क्रियान्वयन में राज्य सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। युवाओं को देश दर्शन पर भेजना युवा पंचायत का ही एक निर्णय था। प्रदेश के युवा भारत की अन्तर्राष्ट्रीय सीमाओं का भ्रमण करें और उनमें साहस और देशभक्ति की भावना प्रबल हो इसी उद्देश्य से अनुभव यात्रा की जा रही है ।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान “माँ तुझे प्रणाम योजना” में देश की अंतर्राष्ट्रीय सीमा के भ्रमण के लिए रवाना हो रहे युवा प्रतिभागियों के साथ स्मार्ट सिटी उद्यान में पौध-रोपण कर उनसे संवाद कर रहे थे। खेल और युवा कल्याण तथा तकनीकी शिक्षा मंत्री श्रीमती यशोधरा राजे सिंधिया भी उपस्थित थी। मुख्यमंत्री ने मंत्री श्रीमती सिंधिया तथा युवाओं के साथ नीम, हरसिंगार और मौलश्री के पौधे लगाए।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि 14 सितंबर को हिंदी दिवस के रूप में मनाया जाता है। मातृ भाषा हमारे लिए उन्नति और गर्व का आधार है। यह गौरव का विषय है कि प्रदेश में मेडिकल की पढ़ाई हिंदी में आरंभ हो रही है। युवाओं को जीवन में प्रगति और उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाएँ दी और युवाओं को पर्यावरण-संरक्षण की गतिविधियों में सक्रियता के साथ भाग लेने की शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री ने ”माँ तुझे प्रणाम योजना” में वाघा बॉर्डर जा रहे युवाओं के चौथे दल को राष्ट्रध्वज भेंट किया तथा यात्रा को हरी झंडी दिखा कर रवाना किया। इस दौरान योजना में अटारी, हुसैनीवाला, वाघा बॉर्डर होकर आ चुके युवा भी उपस्थित थे। युवाओं की ओर से आयुषी सिन्हा ने देश की अन्तर्राष्ट्रीय सीमा के भ्रमण का अवसर प्रदान करने के लिए आभार माना तथा अपनी यात्रा के अनुभव साझा किए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!