भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कारम बांध निर्माण में लापरवाही पर 8 अधिकारी को निलंबित किया

भोपाल डेस्क : 

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्माणाधीन कारम बांध में हुई लापरवाही पर कड़ी कार्रवाई करते हुए 8 अधिकारी को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिए हैं। पूर्व में बांध निर्माण से जुड़ी दो कंपनियों को ब्लेक लिस्टेड किया जा चुका है।मुख्य अभियंता सी.एस. घटोले, अधीक्षण यंत्री जल संसाधन पी. जोशी, कार्यपालन यंत्री बी.एल. निनामा, एसडीओ वकार अहमद सिद्दीकी, उप यंत्री विजय कुमार जत्थाप, उप यंत्री अशोक कुमार, उप यंत्री दशाबंता सिसोदिया और उप यंत्री आर.के. श्रीवास्तव को निलंबित किया गया है।

4 साल पहले बांध का शिलान्यास हुआ था

कोठिदा गांव में कारम मध्यम सिंचाई परियोजना का शिलान्यास एवं भूमिपूजन चार साल पहले जिले के तत्कालीन प्रभारी मंत्री अंतर सिंह आर्य ने किया था। डैम का निर्माण दिल्ली की कंपनी एएनएस कंस्ट्रक्शन प्रा.लि. कर रही है। हालांकि, सरकार ने एक्शन लेते हुए ANS कंस्ट्रक्शन और सारथी कंस्ट्रक्शन को ब्लैक लिस्टेड कर दिया है। साथ ही, दोनों कंपनियों को नोटिस भी भेजा गया है। बता दें कि डैम का जल संग्रहण क्षेत्र 183.83 वर्ग किमी का होकर बांध की लंबाई 564 मीटर होकर चौड़ाई 6 मीटर है। जल भरण क्षमता 43.98 मीट्रिक घन मीटर रखी जाना है, लेकिन डैम में लीकेज होने के बाद दीवार को काटकर पानी बहाया गया था।

सरकार ने बनाई थी जांच कमेटी

इधर, सरकार की ओर से भी चार सदस्यीय जांच कमेटी बनाई गई थी। जिसे पांच दिन में अपनी रिपोर्ट सौंपना था। कमेटी में जल संसाधन विभाग के अपर सचिव आशीष कुमार को अध्यक्ष बनाया गया, जबकि वैज्ञानिक डॉ. राहुल कुमार जायसवाल, राष्ट्रीय जल विज्ञान संस्थान भोपाल, दीपक सातपुते, मुख्य अभियंता, ब्यूरो ऑफ डिजाइन एंड हायडल जल संसाधन विभाग और अनिल सिंह, संचालक बांध सुरक्षा बोधी भोपाल टीम के सदस्य हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!