न्यूज़ डेस्क

अप्रैल में बदला मौसम प्रदेश में आंधी-बारिश, गुना में बिजली गिरने से महिला की मौत: छिंदवाड़ा-जबलपुर में ओले गिरे, इंदौर और भोपाल में गरज-चमक के साथ बरसात

भोपाल डेस्क :

मध्यप्रदेश में फिर आंधी-बारिश का दौर शुरू हो गया है। भोपाल में बुधवार दोपहर बाद बादल छाए। शाम करीब 6 बजे अचानक बारिश शुरू हो गई। इंदौर में भी रात 8 बजे के बाद हल्की बारिश शुरू हो गई। रायसेन में गरज चमक ओर आंधी के साथ तेज बारिश हो रही है।

इसके अलावा दोपहर में गुना, रतलाम, नीमच, जबलपुर, खरगोन, इटारसी, अशोकनगर और सागर में भी पानी गिरा। वहीं, इटारसी में ओले गिरे। गुना में तो बिजली गिरने से महिला की मौत भी हो गई। हादसा विजयपुर थाना क्षेत्र के बृसंगपुरा गांव में हुआ। राजगढ़ में भी रात में बारिश शुरू होने लगी। उधर, मंदसौर जिले के पिपलियामंडी में बारिश के बीच पेड़ गिर गया। इस दौरान तेज हवा, गरज-चमक के साथ बारिश हुई।

मौसम वैज्ञानिक एचएस पांडे ने बताया कि 26 अप्रैल से उत्तर भारत में वेस्टर्न डिस्टरबेंस एक्टिव हो गया। मध्यप्रदेश में 27 अप्रैल से इसका असर दिखाई देगा। 4 मई तक यह एक्टिव रहेगा। इस कारण मई के शुरुआती सप्ताह में भी मौसम बदला सा ही रहेगा। प्रदेशभर में बादलों का दौर रहेगा। गरज-चमक के साथ बारिश होगी। गुना में स्टेट बैंक ऑफ इंडिया की रुठियाई शाखा के पीछे एक खेत में भी बिजली गिरी। इससे बैंक के कम्प्यूटर, एटीएम समेत अन्य उपकरण खराब हो गए। बैंक के ब्रांच मैनेजर दर्शन सिंह ने इसकी पुष्टि की है।

मई के पहले सप्ताह तक ऐसा ही रहेगा मौसम

मंगलवार शाम और रात में जबलपुर और छिंदवाड़ा जिले में ओले गिरे। अरब सागर, बंगाल की खाड़ी से नमी आने और वेस्टर्न डिस्टरबेंस के एक्टिव होने से मई के पहले सप्ताह तक ऐसा ही मौसम रहेगा। भोपाल-जबलपुर में अगले 4 दिन बारिश होने की संभावना है। प्रदेश के आधे हिस्से में बारिश के आसार हैं।

उधर, मंगलवार को जबलपुर में भी तेज बारिश हुई। ओले भी गिरे। दमोह और मंडला में भी बूंदाबांदी हुई है। छिंदवाड़ा में देर रात आंधी के साथ पानी गिरा। जिले के जुन्नारदेव, परासिया, न्यूटन, पारडसिंगा और पांढुरना में ओले भी गिरे। पांढुर्ना में तो आंवले के आकार के ओले गिरे।

इन जिलों में बारिश के आसार

मौसम वैज्ञानिकों ने 29 अप्रैल तक की वेदर रिपोर्ट जारी की है। इसमें बुरहानपुर, खंडवा, खरगोन, सिंगरौली, सीधी, रीवा, सतना, अनूपपुर, शहडोल, उमरिया, डिंडोरी, कटनी, जबलपुर, नरसिंहपुर, सिवनी, मंडला, बालाघाट, पन्ना, दमोह, सागर, छतरपुर, टीकमगढ़ और निवाड़ी में 26 से 29 अप्रैल तक कहीं तेज तो कहीं हल्की बारिश होने की संभावना है, जबकि बड़वानी, आलीराजपुर, झाबुआ, धार, इंदौर, रतलाम, उज्जैन, शाजापुर, आगर-मालवा, मंदसौर, नीमच, गुना, ग्वालियर, मुरैना और श्योपुरकलां में बादल छाए रहेंगे। 40 से 50Km प्रतिघंटे की रफ्तार से आंधी भी चल सकती है।

पचमढ़ी से ठंडी ग्वालियर की रात
मध्यप्रदेश के 10 से ज्यादा शहरों में मंगलवार रात का तापमान 20 डिग्री या इससे कम रहा। पचमढ़ी से ठंडे मलाजखंड और ग्वालियर रहे। मलाजखंड में न्यूनतम पारा 16.3, ग्वालियर में 18.5 डिग्री रिकॉर्ड हुआ, जबकि पचमढ़ी में यह 19.0 रहा। 25 डिग्री तापमान के साथ उज्जैन की रात सबसे गर्म रही। बाकी शहरों में न्यूनतम तापमान 25 डिग्री से कम दर्ज हुआ।

अप्रैल में इस कारण बदला मौसम

मौसम विभाग के अनुसार अप्रैल महीने में अरब सागर व बंगाल की खाड़ी से लगातार नमी आ रही है। इस नमी के कारण ही बादल, आंधी और बारिश का दौर बना हुआ है। वहीं, कश्मीर में जो पश्चिमी विक्षोभ आ रहे हैं, वे राजस्थान से गुजर रहे हैं। इस कारण भी बारिश का दौर चल रहा है। इससे अप्रैल में दिन-रात के तापमान में खासी गिरावट देखने को मिली है। अगले पांच दिन भी मौसम का मिजाज ऐसा ही रहेगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!