विदिशा

भाजपा के शासन में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद प्रशासन पर नहीं लगाम, भाजपा विधायक के क्षेत्र में अवैध उत्खनन जोरों पर

लटेरी डेस्क :

राज्य सरकार की तमाम कोशिशों के बाद भी अवेध उत्खनन नहीं रुक पा रहा है। अवैध खनन माफियाओं की सक्रियता की वजह से पर्यावरण तथा भूगर्भ संतुलन बिगड़ने का खतरा मंडरा रहा है खनिज विभाग की गैर जिम्मेदाराना और सुस्त कार्यप्रणाली की वजह से सरकार को करोड़ों की चपत लग रही है वहीं भाजपा विधायक उमाकांत शर्मा का विधानसभा क्षेत्र कहलाने वाले लटेरी में खनन माफियाओं के हौसले बुलंद हैं और अब यह देखो खनन माफिया प्रकृति पर हावी होने लगे हैं अवैध उत्खनन से आसपास के जंगल गायब हो रहे हैं कई पहाड़ समतल किए जा चुके हैं अवैध उत्खनन से लटेरी तहसील के आसपास का वन क्षेत्र गायब होता नजर आ रहा है पत्थर, मिट्टी,रेत और मुरम का अवैध उत्खनन इतनी मात्रा में होता है कि माफियाओं ने पहाड़ों को ही समतल कर दिया। इसका सीधा असर पर्यावरण पर दिखने लगा वातावरण में तेजी से बदलाव आ रहा है साल दर साल न्यूनतम अधिकतम तापमान में है लेकिन इसके बावजूद भी यह माफिया इतने हावी हैं इनका खनन करना निरनंतर जारी है

बगैर अनुमति के डाला कोपरा

विदिशा जिले की लटेरी तहसील में कोपरा को लेकर धांधली, शासन को नहीं है कानो कान खबर, कोपरे की 2 दिन से वार्ड में चल रही ट्रैक्टर ट्राली, प्रशासन की अनदेखी,लटेरी के वार्ड क्रमांक एक में जम कर चला कोपरा घोटाला , कहां जाता है अपना काम बनता भाड़ में जाए जनता, धड़ल्ले से कोपरा डाला जा रहा है शासन द्वारा खदानों पर रोक लगाई गई है अपनी मनमर्जी से हर कहीं पटक रहे हैं कोपरा पटकने वाले टेक्टर चालक ओर वहां खड़े पर्ची काटने बाले लोगों से बात की गई ना ही उनके पास परमिशन है ना ही किसी की अनुमति इस संबंध में एसडीएम बृजेंद्र रावत से बात की गई उनका साफ कहना है अवैध तरीके से कोपरा डलवाया जा रहा है जो बगैर परमिशन के ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जावेगी हमारे द्वारा कोपरा को लेकर कोई अनुमति नहीं दी गई ना ही कोई अनुमति लेने आया ।

सीएमओ ने झाड़ा पल्ला

इस संबंध में सीएमओ संतोष पाराशर से बात की गई तो पाराशर बोले आप लोग इंजीनियर से बात कर लो मुझे कुछ नहीं पता सीएमओ पाराशर को खुद पता नहीं वार्डो में कोपरा किसकी अनुमति से डाल रहा है या फिर से कहें कि सीएमओ साहब भी अपना पल्ला झाड़ते नजर आ रहे हैं आखिरकार कोपरा तो नगर परिषद की अनुमति से ही अवैध तरीके से अवैध कॉलोनियों में खेतों में डाला जा रहा है कौन है इसका जिम्मेदार किस पर होगी कार्यवाही

नगरपालिका इंजीनियर द्वारा बताया गया कि गलियों में कोपरा डल रहा है जिससे कि कीचड़ ना हो एवं जो भुगतान होगा वह नापतोल कर किया जाएगा।

क्या कहना मोहल्ले वासियों का- नगर परिषद द्वारा कोपरा डाला जा रहा है मगर यह कोपरा बरसात होने से पहले डाला जाता तो बहुत फायदा होता जिस जगह जरूरत है उस जगह नहीं डाला जा रहा है अपनी मनमर्जी से डाला जा रहा है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!