विदिशा

राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक में कलेक्टर ने निर्देश दिए, फसल क्षति सर्वे कार्य चार दिवस में पूर्ण कराएं

विदिशा डेस्क :

कलेक्टर उमाशंकर भार्गव ने बुधवार को राजस्व कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने सभी राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि जिले में हुई अतिवृष्टि व बाढ़ के कारण जो क्षति हुई है का समुचित सर्वे कार्य चार दिवस में पूर्ण कर तहसीलवार रिपोर्ट जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में क्षतिग्रस्त मकानों व सामग्री की राहत राशि का वितरण कार्य किया गया हैं अब बाढ़ का पानी उतरने के पश्चात क्षति हुई फसलों का सर्वे कार्य तीव्र गति से सम्पादित कराना सुनिश्चित करें।
कलेक्टर ने कहा कि सभी राजस्व अधिकारी अब अपने मूल कार्यों का क्रियान्वयन युद्ध गति से कराना सुनिश्चित करें ताकि प्रदेश स्तर पर जिले की रैंकिंग में सुधार हो। गौरतलब हो कि राजस्व कार्यों के क्रियान्वयन मामले में विदिशा जिला प्रदेश में 17वें स्थान पर है।


कलेक्टर भार्गव के द्वारा आहुत राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक में जिन बिन्दुओं पर गहन समीक्षा कर क्रियान्व्यन के संबंध में आवश्यक निर्देश उनके द्वारा दिए गए हैं उनमें मुख्यमंत्री जन सेवा अभियान, विभिन्न विभागों के भवनों, कार्यालयों के लिए शासकीय भूमि का आवंटन, वन ग्रामों का राजस्व ग्रामों में संपरिवर्तन, तीर्थ स्थान/मेला की जानकारी एवं धर्मस्व अधिनियम, अतिवृष्टि एवं बाढ़ से राहत राशि का वितरण, राजस्व प्रकरणों की समीक्षा, राजस्व वसूली, सीएम हेल्पलाईन एवं लोक सेवा गारंटी, भू-अर्जन संबंधी प्रकरणों का निराकरण, मुख्यमंत्री नगरीय भू-अधिकार (धारणाधिकार), स्वामित्व योजना (आबादी सर्वेक्षण), खरीफ फसल गिरदावरी, मुख्यमंत्री आवासीय भू-अधिकार योजना, नक्शा शुद्धिकरण पखवाड़ा, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना ई-केवायसी, एनआर लिंकिंग, अपात्रों से राशि वसूली की कार्यवाही, नक्शा विहीन ग्रामों के नक्शा निर्माण कार्य, देव स्थानों/मंदिरों में संलग्न आराजी भूमि के सर्वे, खसरा नंबरों की समीक्षा, मतदाता परिचय पत्र में आधार नंबर शत प्रतिशत दर्ज करने संबंधी समीक्षा, मतदान केन्द्रों के युक्तियुक्तकरण के प्रस्ताव प्रेषित करने एवं मतदान के शत प्रतिशत सत्यापन, मतदान केन्द्रवार जेण्डर, ईपी रेशियों में कमी का करण एवं नए मतदाताओं को जोड़े जाने हेतु, पंचायत/नगर पालिका निर्वाचन के संबंध में निक्षेप राशि वापसी व जप्त राशि शासन मद में जमा करने की समीक्षा, नगरीय निर्वाचन में अभ्यर्थियों के व्यय लेखा जमा करने की समीक्षा, लंबित देयक के भुगतान की समीक्षा (पंचायत/नगर पालिका), स्वच्छता सर्वेक्षण सहित अन्य बिन्दुओं की गहन समीक्षा की गई है।
नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष में आयोजित इस बैठक में हितग्राही मूलक योजनाओं के क्रियान्वयन पर विशेष बल देने के निर्देश कलेक्टर के द्वारा राजस्व अधिकारियों को दिए गए हैं। उन्होंने कहा कि राजस्व प्रकरणों का निराकरण समय सीमा में करना सुनिश्चित करें साथ ही नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, सीएम हेल्पलाइन, नक्शा शुद्धिकरण, स्वामित्व योजना, गिरदावरी, पीएम किसान कल्याण योजना के तहत तहसील वार उपलब्धियों की भी समीक्षा उनके द्वारा की गई है। सिरोंज एवं लटेरी अनुविभाग क्षेत्र अनेक राजस्व कार्यों में पीछे रहने पर उन्होंने सख्त हिदायत देते हुए दोनों क्षेत्रों के एसडीएमो को निर्देशित किया है कि अधीनस्थों की सतत समीक्षा बैठक आयोजित कर प्रगति हासिल करें। इस बैठक में अपर कलेक्टर श्री वृन्दावनसिंह के द्वारा राजस्व न्यायालयों, बाढ़ राहत भुगतान राशि संबंधी कार्यों की समीक्षा की गई।
उपरोक्त बैठक में डिप्टी कलेक्टरों के साथ साथ समस्त एसडीएम, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, अधीक्षक भू-अभिलेख मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!