न्यूज़ डेस्क

मां पीतांबरा का प्राकट्य दिवस पर हेलिकॉप्टर से बरसाए फूल, CM शिवराज, वसुंधरा ने खींचा मां पीतांबरा का रथ: मुख्यमंत्री बोले- महाकाल लोक की तर्ज पर बनेगा पीतांबरा लोक

न्यूज़ डेस्क :

मध्यप्रदेश के दतिया में मां पीतांबरा का प्राकट्य दिवस मनाया गया। दतिया गौरव दिवस के रूप में मनाए गए इस उत्सव में सीएम शिवराज सिंह चौहान भी शामिल हुए। माई की रथ यात्रा शाम 6 बजे नगर भ्रमण पर निकली। इसकी शुरुआत सीएम शिवराज सिंह, राजस्थान की पूर्व सीएम वसुंधरा राजे और गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने माई के रथ को खींचकर की। रथ में पीतांबरा माता और स्वामीजी महाराज विराजित थे।

माई की कृपा, विकास के लिए बजट बढ़कर मिला
सीएम ने मंच से कहा- गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा की मांग थी कि महाकाल लोक की तर्ज पर पीतांबरा लोक दतिया में बनाया जाए। इसके अलावा उन्होंने स्टेडियम की मांग की थी। साथ ही हवाई पट्‌टी को एयरपोर्ट बनाने की भी इच्छा जाहिर की थी। मैं सीएम बनता गया और माई की कृपा से मुझे हर बार प्रदेश के विकास के लिए बजट बढ़कर मिला। इस बार भी तीन लाख करोड़ का बजट है। यहां माई का आशीर्वाद है। यह माई को अर्पण… नरोत्तम जी जो बनवाना है बनवा लो। महाकाल लोक की तर्ज पर पीतांबरा लोक तो बनाया ही जाएगा।

भजनों पर जमकर झूमे भक्त
मां की यात्रा को निहारने के लिए दोपहर से भक्तों की भीड़ मंदिर के बाहर उमड़ पड़ी। जैसे ही शाम 4 बजे मंदिर के उत्तर द्वार से माई का भव्य रथ सजा कर भक्तों के बीच लाया गया, माई के जयकारें से पूरा परिसर गूंज उठा। मंच से कलाकार भजनों की प्रस्तुति दे रहे थे। यहां भजनों पर भक्त जमकर झूमे। भीड़ इतनी ज्यादा था कि इसे संभालने के लिए पुलिस ने मोर्चा संभाला। इस दौरान ड्रोन भी उड़ाए गए। मंच स्थल पर कलेक्टर संजय कुमार और एसपी प्रदीप शर्मा भी मौजूद रहे।

यहां से गुजरी यात्रा
रथ यात्रा श्री पीतांबरा पीठ‎ के मुख्य द्वार से प्रारंभ होकर शहर के मुख्य मार्गों‎ राजगढ़ चौराहा, भैरव मंदिर, तिगैलिया, टाउनहाल,‎ पटवा तिराहा, किलाचौक, दारूगर की पुलिया,‎ बिहारी जी मंदिर, वापस तिगैलिया होते हुए, भैरव‎ मंदिर, राजगढ़ चौराहा, बम-बम महादेव, बस‎ स्टैंड से स्टेडियम ग्राउंड पर पहुंचकर संपन्न हुई।‎ यहां भजन संध्या का आयोजन किया गया।‎

हेलिकॉप्टर से बरसाए गए फूल
माई की रथ यात्रा पर इस बार हेलिकॉप्टर से फूल बरसाए गए। नगर परिषद भांडेर के पूर्व अध्यक्ष बल्ले रावत ने बताया कि दिल्ली से हेलिकॉप्टर बुलाया गया था, जो दोपहर तीन बजे हवाई पट्टी पर उतरा। यात्रा के शुरू होते ही हेलिकॉप्टर द्वारा यात्रा मार्ग पर फूलों की बरसात हुई। इसके लिए आगरा से डेढ़ क्विंटल गुलाब के फूल भी मंगाए गए थे।

रंग बिरंगी लाइट से सजा मां का रथ
मां पीतंबरा का रथ 6 फीट चौड़ा,11.6 फीट ऊंचा और अष्ट धातु से तैयार किया गया है। सुनहरे और सिल्वर कलर के भव्य रथ पर पीतांबरा माई विराजमान हैं। रथ को रंगीन लाइटिंग के साथ-साथ सिल्वर कोट किया गया है। मंदिर को भी लाइट के सात फूलों से सजाया था। इसके लिए इंदौर से फूल मंगवाए गए थे।

रथ की सुरक्षा में लगे 70 जवान
एसपी प्रदीप शर्मा ने बताया कि माई के रथ की सुरक्षा में 70 जवानों तैनात किया गया । 70 जवानों की 4 अलग-अलग टीम बनाई गई है। इसके अलावा 200 जवानों को स्टेडियम ग्राउंड में तैनात किया गया है जो भजन संध्या में सुरक्षा व्यवस्था देख रहे हैं। शिवपुरी, गुना, ग्वालियर, भिंड, मुरैना से 600 जवान रथयात्रा में ड्यूटी देने के लिए बुलाए गए।

पीले रंग में सजा शहर

गौरव दिवस के मौके पर पूरे नगर को सजाया गया है खासकर रथ यात्रा वाले मार्ग पर लगी पीली कनातें आकर्षण का केंद्र रही।

छोटी-बड़ी मिलाकर कुल 51 गलियां बंद

रथ यात्रा मार्ग पर कोई बाधा ना आए और यातायात सुचारू रूप से चलता रहे, इसके लिए भी विशेष इंतजाम किए गए। रथ यात्रा मार्ग और उससे जुड़ने वाली छोटी-बड़ी 51 गलियां बंद कर दी गई।

पिछले साल 4 मई को शुरू हुई इस परंपरा का यह दूसरा साल है। कार्यक्रम की अध्यक्षता राजस्थान की पूर्व मुख्यमंत्री व पीतांबरा ट्रस्ट की अध्यक्ष वसुंधरा राजे सिंधिया ने की। रथ यात्रा पीतांबरा मंदिर से होकर शहर के विभिन्न मार्गों से होते हुए स्टेडियम ग्राउंड पर जाकर समाप्त होगी।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!