विदिशा

13 सितंबर को चलेगा अभियान, 1 से 19 वर्ष तक के कुल 563978 बच्चों को मिलेगा

राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस 13 को

स्कूली बच्चों को खिलाई जाएगी एल्बेंडाजॉल की गोली

विदिशा डेस्क :

 हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी शासकीय व अशासकीय विद्यालयों में अध्ययनरत 19 वर्ष तक के किशोरों, किशोरियों तथा आंगनबाड़ी के बच्चों को कृमिमुक्ति की दवा एल्बेंडाजॉल खिलाई जाएगी। 

 मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एके उपाध्याय बताया कि आगामी 13 सितंबर को राष्ट्रीय कृमिमुक्ति दिवस पर दवा खिलाने का अभियान चलेगा। अभियान से वंचित बच्चों को एल्बेंडाजॉल की गोली खिलाने के लिए 16 सितंबर को मॉपअप राउंड का भी आयोजन किया जाएगा। 

 शिक्षा विभाग और महिला एवं बाल विकास विभाग के सहयोग से राष्ट्रीय कृमि मुक्ति दिवस अभियान के तहत शासकीय, अनुदान प्राप्त शालाओं मदरसों, आंगनबाड़ी केन्द्रों, किशोर न्याय अधिनियम अंतर्गत संचालित चाइल्ड केयर इंस्टीट्यूट में एक से 19 वर्ष तक के सभी बच्चों को कृमिनाशक गोली खिलाई जायेगी ताकि मिट्टीजनित कृमि संक्रमण की रोकथाम सुनिश्चित की जा सके। मालूम हो कि व्यक्तिगत अस्वच्छता, सवंमित व दूषित मिट्टी के संपर्क से कृमि संक्रमण होता है। इससे पीड़ित होने पर बच्चों का शारीरिक व बौद्धिक विकास बाधित होता है, तो खून की कमी के साथी ही पोषण पर भी दुष्प्रभाव दिखता है। ऐसे में साल में एक बार बच्चों को एल्बेंडाजॉल की गोली खिलाई जाती है। इस दिवस विशेष अभियान का आयोजन शिक्षा तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के साथ समन्वय स्थापित कर किया जाएगा। जिसमे आदिम जाति कल्याण विभाग, पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास सहित विभाग विभिन्न विभागों का सहयोग रहेगा। अभियान में हर बच्चे को 400 एमजी की एल्बेंडाजॉल की मीठी गोली खिलाई जाती है।

 कृमिमुक्ति की दवा खिलाने के लिए आशाओं को शाला त्यागी व अप्रवेशी बच्चे चिन्हित करने का निर्देश छूटे हुए बच्चों के लिए 16 सितंबर को मॉपअप राउंड, शिक्षा व महिला एवं बाल विकास सहयोग करेंगे। 

एक से दो वर्ष के बच्चों को खिलानी है आधी गोली-

 शिक्षकों व आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं की निगरानी में विभिन्न आयु वर्ग के बच्चे को एल्बेंडाजॉल की गोली का सेवन कराया जाना है। इसमें एक से दो वर्ष के बच्चों को 400 एमजी की गोली का आधा चूरा कर साफ पानी के साथ देना है। वही दो से तीन वर्ष तक के बच्चों को 100 एमजी की पूरी गोली का चूर्ण बनाकर खिलानी है। 3 से 19 वर्ष तक के बच्चों को 400 एमजी की पूरी गोली चबाकर पानी के साथ खिलाना है।

पांच तक तैयार करें 6 से 19 वर्ष के बच्चों की सूची-

 जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा ने बताया कि अभियान में आशा कार्यकर्ताओं को राष्ट्रीय कृमि दिवस के लिए शाला त्यागी व अप्रवेशी 6 से 19 वर्ष तक के बच्चों की सूची 5 सितंबर तक तैयार कर आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं से साझा करने को कहा गया है। इसी सूची के आधार पर ऐसे बच्चों की मॉनीटरिंग की जाएगी। आदिवासी बाहुल्य वनग्रामों कठिन व पहुंच विहीन क्षेत्रों व घुमक्कड़ प्रजाति के सभी बच्चों को दवा खिलाने हेतु महिला एवं बाल विकास विभाग से समन्वय करने का निर्देश दिया गया है। शिशु, बालक व बालिका गृह, ओपन शेल्टर होम, बाल संप्रेक्षण गृह आदि में मैदानी स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं का दल अपनी निगरानी में एक से 19 वर्ष तक बच्चों को एल्बेंडजॉल की 400 एमजी गोली का सेवन कराया जाएगा।

लक्ष्य-

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ डीके शर्मा ने बताया कि कृमि मुक्ति दिवस के तहत जिले में एक से पांच वर्ष तक के 134066 बच्चे जो आंगनबाड़ी में दर्ज हैं। 6 से 19 वर्ष आयुवर्ग के स्कूलों में दर्ज 429912 सहित 1 से 19 वर्ष तक के कुल 563978 बच्चों को कृमि विमुक्ति की गोलियां खिलाई जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!