विदिशा

आदर्श ख्याति की ओर अग्रसर ग्राम सांगुल राम पहाड़ी गौशाला “सफलता की कहानी”

विदिशा :-

नटेरन विकासखंड के ग्राम सांगुल की  राम पहाड़ी गौशाला आदर्श गौशालाओं की श्रेणी में शामिल है। यहां कुल 100 गौवंश को रखा गया है।  उनके  लिए आदर्श परिस्थितियां निर्मित की गई हैं। गौशाला का विहंगम दृश्य देखने लायक है। गौशाला की बाउंड्री वाल दीवारों पर चित्रकला की नक्काशी अनायास ही अपनी ओर आकर्षित कर रही हैं।
   गौ-वंश हेतु गौशाला के अंदर तमाम प्रबंधन  सुनिश्चित किए गए हैं।
    नटेरन जनपद सीईओ  एस एल कुरेले ने बताया कि गौशाला के बीच में ही पानी की व्यवस्था हेतु बड़ा टैंक बनाया गया है। जहां पूरी 100 गाये एक साथ खड़े होकर पानी पी सकती हैं। इसके अलावा गौशाला परिसर को हरा-भरा बनाने के लिए पौधरोपण कार्य भी किए गए हैं। गायों को हरे चारे की व्यवस्था सुनिश्चित कराने के उद्देश्य चारागाह उन्नत किया गया है। वर्तमान में बरसीम घास भी बोई गई है।
    गौशाला में बिजली के प्रबंध सुनिश्चित हेतु सांसद द्वारा प्रदाय राशि से सोलर सिस्टम स्थापित किए गए हैं। जो  रात्रि में भी गौशाला का विहंगम दृश्य देखने हेतु ललायित करता है। राम पहाड़ी झरने से आने वाला पानी सीधे गौशाला परिसर के टेंक को  24 घंटे भरे रहता है।  जिससे स्वच्छ पेयजल की पूर्ति बिना किसी राशि व्यय के ग्रीष्म काल में भी हो रही है।  गौशाला के गोबर को जैविक खाद के रूप में उपयोग करने की तैयारियां भी सुनिश्चित की गई है। ताकि किसानों को सस्ती दर पर जैविक खाद की उपलब्धता सुनिश्चित कराई जा सके ताकि गौशाला को आर्थिक रूप से सबल किया जा सके। गौवंश की देखभाल के लिए समय-समय पर पशु चिकित्सक अपनी सेवाएं दे रहे हैं। इसके अलावा आवश्यकता पड़ने पर उन्हें कॉल करके  बुलाने पर अपनी सेवाएं देने हेतु तत्पर रहते हैं। निश्चित ही अपने स्रोतों से उक्त गौशाला आधुनिकता के मापदंडों की ओर अग्रसर है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!