भोपाल

दिवंगत ग्रुप केप्टन वरूण सिंह की पार्थिव देह पहुँची भोपाल

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पार्थिव देह पर पुष्प-चक्र अर्पित कर दी श्रद्धांजलि
सैन्य सम्मान के साथ शुक्रवार को होगा अंतिम संस्कार

भोपाल : 

सेना के विमान से दिवंगत ग्रुप केप्टन वरूण सिंह का पार्थिव शरीर बैंगलुरू से गुरुवार को स्टेट हैंगर भोपाल पहुँचने पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने स्टेट हैंगर पर दिवंगत ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह की पार्थिव देह पर पुष्प-चक्र अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। मुख्यमंत्री दिवंगत श्री सिंह के परिजन से भी मिले और उन्हें सांत्वना दी। केप्टन वरूण सिंह की पार्थिव देह स्टेट हैंगर से उनके निवास के लिए रवाना हुई। मुख्यमंत्री चौहान भी इस यात्रा में सम्मिलित हुए। उन्होंने कहा कि ग्रुप कैप्टन के शौर्य को देश कभी भुला नहीं सकता। वे प्रदेश और देशवासियों की स्मृति में सदैव जीवित रहेंगे।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि ग्रुप केप्टन वरूण सिंह भारत माता के सच्चे सपूत थे। देश-प्रदेश और भोपाल को उन पर गर्व है। उन्होंने मौत को कई बार मात दी। वे देश की सीमाओं की सुरक्षा के लिए शौर्य की नई गाथाएँ गढ़ गए। वे आज हमारे बीच नहीं हैं। मैं प्रदेशवासियों की ओर से शहीद ग्रुप केप्टन वरूण सिंह को श्रद्धा-सुमन अर्पित करता हूँ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि उनकी स्मृतियों को अक्षुण रखने के लिए राज्य सरकार द्वारा सिंह के परिवार से विचार-विमर्श कर इस प्रकार की गतिविधि संचालित की जाएगी जो आने वाली पीढ़ियों को देशभक्ति की प्रेरणा देती रहे। उनके परिवार को एक करोड़ रूपए की सम्मान निधि अर्पित की जाएगी। साथ ही परिवार के सदस्य को शासकीय सेवा में स्थान देने का प्रस्ताव भी है।

स्टेट हैंगर पर जन-प्रतिनिधियों और अधिकारियों ने पुष्प-चक्र अर्पित कर वीर ग्रुप केप्टन सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की। चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग एवं विधायक हुजूर रामेश्वर शर्मा, कलेक्टर अविनाश लवानिया, अतिरिक्त पुलिस कमिश्नर श्री इरशाद वली सहित मिलिट्री और पैरामिलिट्री फोर्स के अधिकारियों ने श्रद्धांजलि अर्पित की।

उल्लेखनीय है कि 8 दिसम्बर को सीडीएस हैलीकॉप्टर हादसे में एकमात्र जीवित बचे ग्रुप केप्टन वरूण सिंह का बैंगलुरू के सैनिक अस्पताल में ईलाज चल रहा था। 15 दिसम्बर को सुबह ग्रुप केप्टन जिंदगी की जंग हार गए। ग्रुप केप्टन वरूण सिंह का अंतिम संस्कार शुक्रवार को सैन्य सम्मान के साथ बैरागढ़ स्थित विश्राम घाट पर दोपहर 11 बजे किया जाएगा।

दिवंगत ग्रुप केप्टन वरूण सिंह अपनी पत्नी और दो बच्चों के साथ तमिलनाडु के वेलिंगटन में सेवारत थे। उनके पिता सेना से रिटायर्ड कर्नल के.पी.सिंह और माँ उमा सिंह भोपाल में एयरपोर्ट रोड, सन सिटी कॉलोनी में रहते हैं। ग्रुप केप्टन वरूण सिंह उत्तर प्रदेश के देवरिया जिले के मूल निवासी थे। करीब 20 साल पहले उनके पिता ने भोपाल में अपना निवास बनाया। ग्रुप केप्टन वरूण सिंह के छोटे भाई तनुज भी नौसेना में लेफ्टिनेंट कमांडर हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!