भोपाल

प्रदेश के पहले स्काई डाइविंग फेस्टिवल का हुआ शुभारंभ, स्काई डाइविंग रोमांच से भरपूर और उत्साह का संचार करने वाला- गृह मंत्री डॉ. मिश्रा

म.प्र. देश का दूसरा राज्य, जहाँ स्काई डाइविंग शुरू की गई : पर्यटन मंत्री

भोपाल :

“यूँ दूर बैठकर क्या आसमान देखता है, पंखों को खोल.. ज़माना उड़ान देखता है…” यह पंक्तियाँ गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के ग्राउंड में प्रदेश के पहले स्काई डाइविंग फ़ेस्टिवल का शुभारंभ करते हुए कही। मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि प्रदेश के लिए आज गौरव का दिन है। स्काई डाइवर्स को हजारों फीट की ऊँचाई से डायविंग करते हुए देखना अत्यंत रोमांचकारी है। यह अन्य लोगों में उत्साह का संचार करने वाला है। उड़ान हमेशा से ही दूसरों को आगे बढ़ने के लिये प्रेरित और प्रोत्साहित करती रही है। कार्यक्रम में पर्यटन, संस्कृति और अध्यात्म मंत्री उषा ठाकुर भी वर्चुअली जुड़ी। राजाभोज एयरपोर्ट के डायरेक्टर के.एल. अग्रवाल और आरजीपीव्ही के वाइस चांसलर डॉ. सुनील कुमार भी मौजूद रहे।

मंत्री डॉ. मिश्रा ने मध्यप्रदेश पर्यटन बोर्ड द्वारा शुरू की गई स्काई डाइविंग में सहभागिता करने वाले पर्यटकों की सुरक्षा के मानकों का जायज़ा भी लिया। डॉ. मिश्रा ने कहा कि जीवन में उत्साह और उमंग के क्षण बने रहना चाहिये। स्काई डायविंग फेस्टिवल में सिर्फ सहभागिता करने वाला प्रतिभागी ही नही, बल्कि दर्शक दीर्घा का हर व्यक्ति रोमांच और उत्साह का संचार महसूस करता है। महाशिवरात्रि पर प्रारंभ हुए इस फेस्टिवल में रुद्रभानु सोलंकी ने तिरंगा लेकर 10 हज़ार फ़ीट से स्काई डाइविंग की। तिरंगे को आसमान में लहराते देख मंत्री डॉ. मिश्रा ने कहा कि मैं इनके साहस को देखकर रोमांचित और भारत के तिरंगे को देखकर गौरवान्वित हूँ। आज सम्पूर्ण विश्व में तिरंगे को सम्मान के साथ देखा जाता है। उन्होंने रूस और यूक्रेन के बीच चल रहे युद्ध का जिक्र करते हुए कहा कि तिरंगा लगी हुई बस को वहाँ रोका नहीं जा रहा है। यह हमारे सशक्त नेतृत्व और तिरंगे की शान को प्रदर्शित करता है।

मंत्री उषा ठाकुर ने वर्चुअल संबोधन में कहा कि ‘आज़ादी के अमृत महोत्सव’ के वर्ष में पर्यटन विभाग द्वारा अनेक गतिविधियाँ आयोजित की जा रही हैं। मध्यप्रदेश देश का दूसरा प्रदेश है, जहाँ स्काई डाइविंग की शुरुआत की गई है। प्रदेश का पर्यटन विभाग नवाचारों के लिए जाना जाता है। इस नवाचार के लिए विभाग के अधिकारी-कर्मचारी और आयोजक बधाई के पात्र हैं।

कृपया पधारें, हमे आपका है इंतजार

स्काई डाइवर ऐश्वर्य यादव एयरपोर्ट से एयरक्रॉफ्ट उड़ान भरने के बाद जब आरजीपीव्ही के ऊपर पहुँचे, तब गृह मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा ने कहा कि “कृपया पधारें, हमे आपका है इंतजार।” यादव ने एयरक्रॉफ्ट से डाइव किया और ग्राउण्ड में उतरे। यादव के बाद स्काई डाइवर रुद्रभानु सोलंकी ने भारत की शान तिरंगे को लहराते हुए डाइविंग की।

टूरिज्म बोर्ड की अपर प्रबन्ध संचालक शिल्पा गुप्ता ने कहा कि स्काई डाइविंग फेस्टिवल भोपाल में 1 और 2 मार्च को तथा उज्जैन में 3 से 6 मार्च 2022 के बीच होगा। भोपाल में लगभग 12 और उज्जैन में लगभग 38 प्रतिभागी स्काई डाइविंग के रोमांच का अनुभव लेंगे। इच्छुक व्यक्ति booking.skyhighindia.com पर ऑनलाइन बुकिंग या मोबाइल नंबर 098188 90885 पर संपर्क कर सकते है।

पर्यटन विकास निगम के प्रबंध संचालक एस विश्वनाथन ने कहा कि यह एडवेंचर एक्टिविटी पूर्ण रूप से सुरक्षित है। पूर्ण रूप से स्वस्थ व्यक्ति इस साहसिक गतिविधि में भाग ले सकता है। संस्था ने स्काई डाइविंग का शुल्क 31 हजार 270 रुपए निर्धारित किया है। पर्यटकों को 10 हजार फिट की ऊँचाई से डाइविंग कराई जायेगी। स्काई डाइविंग करने का समय सुबह 8 बजे से शाम 6 बजे तक रहेगा।

स्काई डाइविंग का संचालन पायोनियर फ्लाइंग अकादमी प्रा.लि. की पार्टनर संस्था स्काई हाई इंडिया यूनाइटेड स्टेट पैराशूट एसोसिएशन द्वारा प्रशिक्षित संस्था है। उनके द्वारा उपयोग किए जाने वाला एयरक्राफ्ट नागरिक विमानन निदेशालय से पंजीकृत है। साथ ही पायोनियर फ्लाइंग अकादमी प्रा.लि. डी.जी.सी.ए. में नान-शेडयूल फ्लाइंग ऑपरेटर के रूप में दर्ज है। संस्था द्वारा प्रशिक्षित स्काई डाइवर के सहयोग से टेंडम स्काई डाइविंग कराई जायेगी। स्काई डाइविंग के शौकीन 18 वर्ष से अधिक उम्र के एडवेंचर लवर्स के लिए यह सुनहरा अवसर है। एडवेंचर स्पोर्ट्स के लिए चिकित्सक का आवश्यक हेल्थ सर्टिफिकेट अनिवार्य होगा।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!