देश

तंबाकू मुक्त राजस्थान बनाने और 100 दिवसीय कार्य योजना की क्रियान्विति के लिए राज्य स्तरीय कार्यशाला संपन्न


जयपुर :

चिकित्सा मंत्री परसादी लाल लाल मीणा की तंबाकू मुक्त राजस्थान की परिकल्पना को साकार करने और राज्य सरकार की जनघोषणा की क्रियान्विती में चिकित्सा विभाग पूरी शिद्दत से लगा हुआ है। इसी के मद्देनजर बुधवार को मिशन निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन डॉ. जितेन्द्र कुमार सोनी की अध्यक्षता में राज्य स्वास्थ्य परिवार कल्याण संस्थान (सीफू) में एक राज्य स्तरीय कार्यशाला का आयोजन किया गया।
मिशन निदेशक ने सभी जिलों को निर्देशित करते हुए कहा कि तम्बाकू मुक्त राजस्थान-100 दिवसीय कार्ययोजना के संबंध में सभी जिलों में जिला कलक्टर की अध्यक्षता में बैठक आयोजित की जाए तथा विभागवार जिम्मेदारियां तय करते हुए निर्धारित किये गये लक्ष्यों की प्राप्ति सुनिश्चित करे। उन्होंने कहा कि पुलिस विभाग के स्तर से कोटपा अधिनियम के अन्तर्गत कार्यवाही के लिए जिला पुलिस अधीक्षक के साथ भी बैठक आयोजित कर मासिक अपराध समीक्षा बैठक में आवश्यक रूप से चर्चा की जाए। डॉ. सोनी ने कहा कि तम्बाकू का सेवन छोड़ने वालों लोगों से संकल्प पत्र भरवाये जाये। सभी जिलों के द्वारा ग्राम पंचायत, पंचायत समिति एवं जिला परिषद की बैठकों में तम्बाकू नियंत्रण के विषय में प्रस्ताव पारित करवाये जाए ताकि अभियान को गति मिल सके एवं ग्राम स्तर तक प्रभावी क्रियान्वित हो सके। जिलों के द्वारा संबंधित जिला कलक्टर के माध्यम से संरपचों को पत्र लिखकर अभियान की क्रियान्वित के विषय में जानकारी दी जाए।
मिशन निदेशक ने बताया कि 30 अप्रेल 2022 को राज्य के सभी जिलों में ग्राम पंचायत स्तर तक कोटपा अधिनियम के अन्तर्गत पाये जाने वाले उल्लघनों पर नियमानुसार कार्यवाही की जाएगी। सभी जिलों में ग्राम स्तर, ब्लॉक स्तर एवं जिला स्तर पर तम्बाकू नियंत्रण विषय पर विद्यालय के छात्र-छात्राओं के लिए प्रतियोगिताए आयोजित की जायेगी। इसी प्रकार ग्राम स्तरीय स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं पोषण समितियों तथा शहरी क्षेत्रों में महिला आरोग्य समितियों के माध्यम से नारा लेखन एवं अन्य जागरूकता गतिविधियां आयोजित की जाए।
कार्यशाला में शिक्षण संस्थाओं को तम्बाकू मुक्त क्षेत्र के रूप में विकसित करने के लिए भारत सरकार द्वारा निर्धारित 9 इंडिकेटर्स की पालना की ऑनलाईन रिपोर्टिंग के लिए डवलपमेंट पार्टनर खुशी बेबी के द्वारा प्रशिक्षण दिया गया तथा साथ ही डिजीटल हैल्थ सर्वे के द्वारा तम्बाकू उपभोगियों की लिस्टिंग कर उन्हें नजदीकी तम्बाकू मुक्ति उपचार एवं परामर्श केन्द्र पर रेफर करने के विषय में भी प्रतिभागियों का आमुखीकरण किया गया।
कार्यशाला में झुंझुंनु जिले के नवलगढ ब्लॉक की 46 ग्राम पंचायतों को तम्बाकू मुक्त ग्राम पंचायत बनाने की कार्ययोजना का प्रस्तुतिकरण भी झुंझुंनु जिला तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के द्वारा दिया गया।
राज्य नोडल अधिकारी डॉ. एस.एन.धौलपुरिया के द्वारा तम्बाकू मुक्त राजस्थान अभियान की 100 दिवसीय कार्ययोजना के सभी बिन्दुओं का विस्तृत प्रजन्टेशन दिया गया तथा जिलों के द्वारा अभियान के संबंध में चाही गयी समस्त जानकारी भी प्रदान की गयी।
कार्यशाला में इन्टरनेशनल यूनियन के डॉ. राणा जे सिंह, इंडियन अस्थमा केयर सोसायटी के सचिव धर्मवीर कटेवा, ब्रहमकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय आबूरोड से डॉ. गोमती एवं एम्स जोधपुर से डॉ. योगेश के द्वारा भी प्रतिभागियों का अभियान के संबंध में आमुखीकरण किया गया।
कार्यशाला में सभी जिलों से उप मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी, स्वास्थ्य, तम्बाकू नियंत्रण प्रकोष्ठ के कार्मिकों तथा स्वयसेवी संगठनों के प्रतिनिधियों के द्वारा भाग लिया गया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!