भोपाल

शिवराज सिंह चौहान ने बालाघाट में मोबाइल पर संबोधित की चुनावी सभा को, कहा सांसद-विधायक नहीं दिया, पार्षद ही दे दो

भोपाल डेस्क

मध्यप्रदेश के 46 नगरीय निकायों के चुनाव चल रहे हैं। इनमें पार्षदों को जिताने के लिए भाजपा-कांग्रेस दोनों दलों के नेता जोर लगा रहे हैं। BJP की ओर से सीएम शिवराज सिंह ने प्रचार की कमान संभाल रखी है। इस दौरान गुरुवार  को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का अलग अंदाज देखने को मिला। उन्होंने हेलीपैड से ही मोबाइल फोन के माध्यम से ही सभा को संबोधित किया। असल में, मौसम खराब होने के चलते वे सभा स्थल पर नहीं जा पाए। इससे पहले छिंदवाड़ा के दमुआ की चुनावी सभा में सीएम ने कहा- कि आपने सांसद-विधायक नहीं दिया, कम से कम पार्षद तो दे दो।

गुरुवार को सीएम शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के गढ़ छिंदवाड़ा में सभाएं कीं। सीएम ने दमुआ, सौंसर में सभाएं कीं। उन्हें बालाघाट के केंदाटोला और मलाजखंड भी जाना था। मौसम खराब होने के चलते सीएम का हेलीकॉप्टर नहीं उड़ पाया। इसके बाद सीएम ने हैलीपेड पर खड़े होकर मोबाइल के जरिए ही मलाजखंड और कैंदाटोला में आयोजित मुख्यमंत्री जनसेवा शिविरों को संबोधित करना शुरू कर दिया।

छिंदवाड़ा के सौंसर में सीएम ने राहुल गांधी भारत जोड़ो यात्रा पर तंज कसा। उन्होंने कहा कि 1947 में पं. जवाहरलाल नेहरू ने भारत तोड़ा था। कांग्रेस ने देश का विभाजन स्वीकार किया और एक हिस्सा पाकिस्तान बन गया। भारत तोड़ने का अपराध कांग्रेस के सिर पर है। इसके लिए इतिहास कभी माफ नहीं करेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि कांग्रेसी बोल रहे हैं कि हम भारत जोड़ो यात्रा निकाल रहे हैं, लेकिन कांग्रेस में कांग्रेस छोड़ो यात्रा चल रही है।

नामांतरण पेंडेंसी पर अफसरों को वॉर्निंग

मुख्यमंत्री जनसेवा शिविर में सीएम से लोगों ने फौती नामांतरण न होने की शिकायत की। सीएम ने कलेक्टर से पूछा- यह जिम्मेदारी किस विभाग की है? इन पंचायतों के एसडीएम तहसीलदार कौन हैं? फौती नामांतरण की जवाबदारी किसकी है? इसका मतलब पटवारी फौती नामांतरण नहीं करवा रहे हैं, जिसके कारण यह दिक्कत हो रही है। एसडीएम और तहसीलदार को वार्निंग दे रहा हूं कि यह नहीं होना चाहिए। एक-एक को ढूंढो, फौती नामांतरण वाले भी ढूंढो।

प्रदेश में बिना जमीन कोई नहीं रहेगा

मुख्यमंत्री ने दमुआ में जनसभा में कहा कि रहने के लिए जमीन का हर इंसान का हक है, इसलिए जो जहां मकान बना कर रह रहे हैं, उसका मकान नहीं हटाया जाएगा। ऐसे हर गरीब भाई बहन जिनके पास रहने की जमीन नहीं है, उनको पट्टा देकर जमीन का मालिक बनाएंगे। प्रदेश में बिना जमीन के कोई नहीं रहेगा। हमने पैसे भेजने में कमी नहीं की। जिसने बेईमानी की है, मैं उसे नहीं छोड़ूंगा।

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि पिछले दिनों भी दमुआ में विभिन्न सड़कों की मरम्मत के लिए 12 करोड़ 60 लाख रुपए भेजे थे। आरसीसी नाली पुलिया निर्माण के लिए 1 करोड़ भेजे। मुख्यमंत्री शहरी अधोसंरचना विकास के लिए अलग पैसे भेजे। गरीबों के लिए चलाई जा रही प्रधानमंत्री आवास योजना के लिए हमने पैसे भेजे थे, लेकिन दमुआ की कांग्रेस नगरपालिका ने केवल 400 आवास बनाए, 400 आवास वापस करने का पाप कांग्रेस ने किया।

दमुआ में बोले- विधायक सांसद नहीं दिया, पार्षद तो दे दो

छिंदवाड़ा के दमुआ में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि न तो आपने भाजपा को जिले में सांसद दिया, न ही कोई विधायक, अब कम से कम पार्षद तो हमें दे दो, इसके साथ ही शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि दमुआ नगर पालिका में भाजपा की सरकार आने के बाद जनता को दफ्तर के चक्कर नहीं लगाने पड़ेंगे, बल्कि नगरपालिका आपके बीच में आकर जनता के काम करेगी।

खंडवा में सड़क पर खड़े होकर मोबाइल पर सभा को संबोधित किया

मध्यप्रदेश में उपचुनाव का प्रचार कर रहे मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का नया अंदाज सामने आया है। वे सड़क पर ही खड़े होकर खंडवा में मोबाइल से वर्चुअली लोगों को संबोधित करने लगे। इस दौरान कुछ लोग भी जुट गए। सीएम मोबाइल के साथ उन्हें भी देखकर संबोधित करने लगे। पुनासा की सड़क पर खड़े शिवराज के इस अंदाज का लोगों ने हाथ उठाकर स्वागत किया और वीडियो भी बनाए।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!