मध्यप्रदेश

मुकुंदपुर टाइगर सफारी विन्ध्य के मनोरम स्थलों में एक है : राज्यपाल मांगू भाई पटेल

राज्यपाल ने मुकुंदपुर टाइगर सफारी का किया भ्रमण

रीवा : 

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने कहा है कि मुकुंदपुर टाइगर सफारी विन्ध्य के मनोरम स्थलों में से एक है। सफेद बाघ विश्व को रीवा की देन है। इस ऐतिहासिक उपलब्धि को मुकुंदपुर टाइगर सफारी पूरी तरह से जीवंत करता है।

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने रीवा जिले के महाराजा मार्तण्ड सिंह जूदेव व्हाइट टाइगर सफारी मुकुंदपुर भ्रमण के दौरान यह बात कही। राज्यपाल ने सबसे पहले रायल बंगाल टाइगर को देखा। इसके बाद उन्होंने सफेद बाघों का अवलोकन किया। राज्यपाल श्री पटेल ने टाइगर सफारी के भालू, चीतल, सांभर तथा अन्य वन्य जीवों का अवलोकन किया। उन्होंने टाइगर सफारी में जाकर खुले में विहार कर रहे सफेद बाघों को भी देखा।

भ्रमण के समय राज्यपाल को पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा श्री राजेन्द्र शुक्ल ने मुकुंदपुर व्हाइट टाइगर सफारी के स्थापना के प्रयासों तथा सफेद बाघों के इतिहास के संबंध में जानकारी दी। टाइगर सफारी के संचालक संजय रायखेरे ने टाइगर सफारी में उपलब्ध सुविधाओं तथा वन्य जीवों के संबंध में विस्तार से जानकारी दी।

राज्यपाल  पटेल ने किया सोलर पावर प्लांट तथा निर्माणाधीन टनल का भ्रमण

राज्यपाल मंगुभाई पटेल ने बदवार में स्थित सोलर पावर प्लांट का भ्रमण किया। प्लांट के सभागार में अधिकारियों द्वारा रीवा अल्ट्रा मेगा सोलर पावर प्लांट की स्थापना तथा विकास से जुड़ी जानकारियों का प्रस्तुतिकरण किया गया। बताया गया कि सोलर पावर प्लांट से 750 मेगावाट बिजली का उत्पादन होता है। इसमें से 78 प्रतिशत बिजली मध्यप्रदेश राज्य को तथा 22 प्रतिशत दिल्ली मेट्रो को दी जा रही है। इसकी कुल लागत 4500 करोड़ रुपए है। यह प्लांट 1672 हेक्टेयर क्षेत्र में स्थापित है। इससे 25 वर्षों में मध्यप्रदेश को 2026 करोड़ रुपए का शुद्ध लाभ होगा। सोलर पावर प्लांट में तीन निजी कंपनियों की इकाइयाँ बिजली उत्पादन के लिए स्थापित हैं।

राज्यपाल ने व्यू प्वाइंट से सोलर प्लांट के विहंगम दृश्य का अवलोकन किया। उन्होंने सोलर पावर प्लांट की स्थापना को शानदार उपलब्धि बताया। राज्यपाल ने सोलर पावर प्लांट में कार्यरत मजदूरों के संबंध में भी जानकारी ली। इसके बाद राज्यपाल ने रीवा-सीधी मार्ग में निर्माणाधीन टनल का अवलोकन किया। टनल का निर्माण कार्य अंतिम चरण में चल रहा है। इसका निर्माण पूरा होने से रीवा-सीधी के बीच आवागमन सुगम होगा और समय एवं ईधन की बचत होगी। भ्रमण के समय कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, पुलिस अधीक्षक नवनीत भसीन, ऊर्जा विकास निगम के सीईओ तथा सोलर पावर प्लांट के अधिकारी उपस्थित रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!