Uncategorized

राज्य स्तरीय रोजगार मेले में 5 लाख से अधिक को जोड़ा गया रोजगार से मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने 617 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास/लोकार्पण किया

हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता जनता का सर्वांगीण विकास : मुख्यमंत्री चौहान
स्व-सहायता समूह की महिलाएँ चलायेगी राशन दुकान, बनाएगी रेडी-टू-ईट और गणवेश
प्रधानमंत्री के नेतृत्व में हो रहा है चौतरफा विकास

स्व-रोजगार से बदलेगी मध्यप्रदेश की तस्वीर और तकदीर

भोपाल :-

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारी सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता लोगों के सर्वांगीण विकास की है। बेरोजगारों को रोजगार के अवसर प्रदान कराना और उनके जीवन को खुशहाल बनाना राज्य सरकार का लक्ष्य है। प्रदेश में गत 12 जनवरी को रोजगार दिवस पर 5 लाख 26 हजार लोगों को रोजगार उपलब्ध कराया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमने निर्णय लिया है कि माह में 1 दिन रोजगार दिवस का आयोजन कर बेरोजगारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध कराये जायेंगे। आगामी 29 मार्च को फिर रोजगार दिवस का आयोजन कर लाखों लोगों को रोजगार से जोड़ा जायेगा।

मुख्यमंत्री आज रोजगार दिवस पर शहडोल में पॉलिटेक्निक ग्राउंड में राज्य-स्तरीय रोजगार मेले को संबोधित कर रहे थे। मुख्यमंत्री ने शहडोल संभाग में 617 करोड़ के विकास कार्यों का शिलान्यास और लोकार्पण भी किया।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अब स्कूलों के लिए गणवेश बनाने का काम स्व-सहायता समूह की सदस्य करेंगी। समूह की महिलाएँ राशन वितरण दुकानों का संचालन तथा ‘रेडी-टू-ईट’ आहार निर्माण का कार्य भी करेंगी। समूह की महिलाओं को धान खरीदी का काम भी सौंपा जायेगा। हमारा लक्ष्य है कि प्रदेश की कामकाजी महिलाओं को कम से कम 10 हजार रूपये प्रतिमाह आमदनी हो। समूह की महिलाएँ साबुन, हल्दी पाउडर, तेल, सैनेटाइजर आदि का निर्माण कर रही हैं। उन्हें छोटे-छोटे उद्योगों से जोड़कर उनकी गरीबी दूर कर उन्हें आत्म-निर्भर बनाने का काम किया जायेगा।

प्रदेश के गरीब तबके को प्रधानमंत्री अन्न योजना एवं मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में मार्च 2022 तक 5-5 किलोग्राम निःशुल्क राशन का वितरण कराया जा रहा है। इसी प्रकार शासन द्वारा विभिन्न योजनाओं में ऋण स्वीकृत कर लोगों को रोजगार उपलब्ध कराने की व्यवस्थाएँ भी सुनिश्चित की जा रही हैं। ‘एक जिला-एक उत्पाद’ योजना में शहडोल जिले में हल्दी का उत्पादन एवं पाउडर तैयार कर उसे विक्रय किया जा रहा है। शहडोल का हल्दी पाउडर प्रदेश के साथ अन्य राज्यों में भी भेजा जा रहा है।

महिला स्व-सहायता समूहों को बनाया जायेगा सुदृढ़

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में स्व-सहायता समूहों से जुड़ी महिला सदस्यों को आत्म-निर्भर बनाने, छोटे-छोटे व्यवसायों से आय बढ़ाने के लिये प्रत्येक सदस्यों को 10-10 हजार रूपये की ऋण राशि उपलब्ध कराई जायेगी, जिससे वे स्थानीय स्तर पर लघु उद्योग, कुटीर उद्योग एवं गृह उद्योग का संचालन कर अपनी आर्थिक स्थिति को सुदृढ़ करेंगी।

मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना शुरू की गई है, जिसमें रोजगार के इच्छुक युवा-युवतियों को 1 लाख से 25 लाख का ऋण उपलब्ध कराया जायेगा। योजना से इस वर्ष लगभग 1 लाख लोगों को लाभान्वित किया जायेगा।

औषधीय खेती के अवसरों का सृजन

प्रदेश में औषधीय खेती के लिये अनेक क्षेत्रों में जड़ी-बूटियों का उत्पादन कर बेरोजगारों को रोजगार के अवसर प्रदान कराये जायेंगे। इन उत्पादों को विक्रय कर बेरोजगार आमदनी हासिल करेंगे। प्रदेश के विभिन्न क्षेत्रों में प्रचुर-मात्रा में औषधीय जड़ी-बूटियों का उत्पादन करने के लिए वातावरण एवं भूमि की भी अच्छी उपलब्धता है।

सीएम राईज स्कूल से मिलेगी गुणवत्तायुक्त शिक्षा

मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में सीएम राईज स्कूल बनाए जा रहे हैं। इन स्कूलों में निजी स्कूलों से बेहतर और गुणवत्तायुक्त शिक्षा उपलब्ध कराई जायेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में परीक्षाएँ अब ऑनलाईन नहीं बल्कि ऑफलाईन होंगी।

प्रदेश के हर गाँव और नगरीय क्षेत्र को स्वच्छ बनाने का कार्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि स्वच्छता के क्षेत्र में प्रदेश को देश में अग्रणी बनाने के लिये प्रत्येक गाँव में स्वच्छता के कार्य किये जायेंगे। शहरी क्षेत्रों में भी जन-भागीदारी के माध्यम से स्वच्छता के कार्यों को गति दी जायेगी।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के जनजातीय क्षेत्रों में “राशन आपके ग्राम” योजना के तहत घर-घर राशन दिया जा रहा है। उन्होंने कमिश्नर शहडोल को निर्देशित किया कि राशन वितरण में यदि शिकायतें मिलती हैं, तो जाँच कर दोषी व्यक्तियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही कराना सुनिश्चित करें। प्रदेश में कोई भी गरीब अब टूटी झोपड़ी में नहीं रहेगा। सभी पात्र हितग्राहियों को प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत मकान दिए जायेंगे।

नवउद्यमियों से किया संवाद, बाँटे हितलाभ

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने शहडोल में प्रदेशव्यापी रोजगार दिवस के राज्य स्तरीय कार्यक्रम का शुभारंभ कर योजनाओं से लाभान्वित नवउद्यमियों से वर्चुअल संवाद किया। मुख्यमंत्री के साथ डिंडोरी जिले की श्रीमती सुलोचना वनवासी ने अपने स्व-रोजगार और आत्म-निर्भर होने की सफलता की कहानी साझा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने नवउद्यमियों सहित योजनाओं के हितग्राहियों को स्वीकृति-पत्र वितरित किए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्व-सहायता समूहों की बहनों को स्व-रोजगार के लिए ऋण राशि के चेक वितरित किए। उन्होंने “राशन आपके ग्राम” योजना में 38 युवा हितग्राहियों को वाहन की चाबी भी सौंपी।

50 दिन में 10 लाख से अधिक को जोड़ा रोजगार से

एमएसएमई मंत्री ओमप्रकाश सखलेचा ने कहा कि मध्यप्रदेश में 40-50 दिन में ही साढ़े 10 लाख लोगों का रोजगार से जोड़ने का यह काम अनूठा और दुनिया में अपने तरह का सम्भवतः पहला उदाहरण है। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री की प्रदेश को रोजगार सम्पन्न बनाकर युवाओं को आत्म-निर्भर बनाने की यह पहल बेजोड़ है।

मंत्री सखलेचा ने कहा कि प्रदेश में 5 हजार स्व-सहायता समूहों को ऑनलाइन मार्केटिंग से जोड़ने एवं उत्पादों की पैकेजिंग के लिए नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जा रहा है। हमारी कोशिश है कि समूहों के उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय बाजार उपलब्ध करा सकें। इसके लिए फ्लिपकार्ट और अमेजन जैसी ऑनलाइन मार्केटिंग कम्पनियों से करार हुआ है। ये कम्पनियाँ इन समूहों से कमीशन भी नहीं लेंगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी की सोच बिल्कुल स्पष्ट है। वे अंतिम व्यक्ति तक योजनाओं का लाभ पहुँचा रहे हैं। जिलों के भ्रमण में वे हजारों लोगों से संवाद करते हैं। मुख्यमंत्री सचिवालय में कम, जनता के बीच जाकर अधिक कार्य करते हैं। उसका असर आज दिखाई दे रहा है, प्रदेश में हर वर्ग के साथ युवा भी सशक्त हो रहे हैं। आज शहडोल जिले के 10 हजार से अधिक हितग्राही लाभान्वित हुए। उन्होंने बताया कि 29 मार्च को फिर से रोजगार दिवस मनाकर लाखों लोगों को रोजगार दिया जायेगा। 

शहडोल जिले के प्रभारी मंत्री रामखेलावन पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री चौहान ने आज लगभग 617 करोड़ रूपये से अधिक के लागत के निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं भूमि-पूजन किया है। इससे शहडोल जिले के लोगों को सीधा लाभ होगा।

आदिम जाति कल्याण मंत्री मीना सिंह, शहडोल सांसद हिमाद्री सिंह, सीधी सांसद रीती पाठक, अध्यक्ष महिला वित्त विकास निगम अमिता चपरा, आयुक्त उद्योग पी. नरहरि, आयुक्त शहडोल राजीव शर्मा सहित जन-प्रतिनिधि और बड़ी संख्या में नागरिक उपस्थित थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!