नई दिल्ली

दिल्ली में सरकार गिराने भाजपा ने ऑफर दिया। आम आदमी पार्टी छोड़ने पर 20 करोड़ देंगे और दूसरों को साथ लाए तो 25 करोड़।

नई दिल्ली डेस्क :

दिल्ली के डिप्टी सीएम और शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के घर सीबीआई छापे के बाद बुधवार को आम आदमी पार्टी (आप) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की। आम आदमी पार्टी के नेता संजय सिंह ने कहा कि हम ऑपरेशन लोटस के बारे में खुलासा कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि हमारे विधायकों को भाजपा ने ऑफर दिया। ऑफर यह था कि aap छोड़ने पर 20 करोड़ देंगे और दूसरों को साथ लाए तो 25 करोड़।

संजय सिंह ने कहा- हमारे विधायक संजीव झा, सोमनाथ भारती, कुलदीप कुमार और एक अन्य विधायक को भाजपा ने पार्टी छोड़ने की एवज में 20 करोड़ रुपए देने का ऑफर दिया है। संजय सिंह के साथ प्रेस कॉन्फ्रेंस में सोमनाथ भारती भी थे। उन्होंने कहा कि भाजपा के लोगों ने मुझे कहा कि AAP के 20 और विधायक हमारे संपर्क में हैं।

आप विधायक संजीव झा बोले- 20 करोड़ का ऑफर मिला

संजीव झा ने कहा, ‘भाजपा के लोग मेरे पास आए और कहा कि आप अगर पार्टी छोड़ते हैं, तो आपको 20 करोड़ रुपए मिलेंगे। अगर आम आदमी पार्टी के कुछ विधायकों को भी साथ लाएंगे, तो 5 करोड़ रुपए अधिक देंगे।’ दिल्ली विधानसभा में कुल 70 सीटे हैं और सरकार बनाने के लिए 36 विधायकों की जरूरत होती है। वर्तमान में आम आदमी पार्टी के पास 62 और भाजपा के पास 8 विधायक हैं।

केजरीवाल बोले- हम बिकने वाले नहीं

मंगलवार को गुजरात में एक रैली में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हम बिकने वालों में से नहीं हैं। उन्होंने कहा कि दिल्ली में ऑपरेशन लोटस फेल हो गया है। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया के घर पर इसलिए छापे पड़े, क्योंकि दिल्ली में ये लोग सरकार गिराना चाहते थे।

सीबीआई छापेमारी के बाद रविवार (21 अगस्त) को मनीष सिसोदिया ने एक ट्वीट किया था- ‘भाजपा से संदेश आया है कि AAP को तोड़ दो और यहां आ जाओ। यहां सारे केस भी खत्म हो जाएगा और तुमको दिल्ली का मुख्यमंत्री भी बनाएंगे।’ CBI ने उप-राज्यपाल की सिफारिश के बाद 17 अगस्त को FIR दर्ज की थी, जिसके बाद 19 अगस्त को पहली बार छापेमारी की गई थी।

दिल्ली में 19 अगस्त को बाद आप बनाम भाजपा

आबकारी नीति को लेकर दिल्ली में पहली बार 19 अगस्त को मनीष सिसोदिया के घर पर CBI ने छापेमारी की थी। यह छापेमारी करीब 14 घंटे तक चली थी, जिसके बाद CBI ने इस मामले में PMLA कानून के तहत केस दर्ज कर लिया था। इसके बाद से ही AAP केंद्र में सत्ताधारी दल भाजपा के खिलाफ मुखर है। सिसोदिया ने छापे के बाद कहा था कि भाजपा ने उन्हें AAP छोड़ने और CM बनाने का ऑफर दिया था।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!