विदिशा

भारत भूमि वीरों की भूमि हैं देश के वीर सपूतों को नमन, आनंद कृष्ण शास्त्री,,

विदिशा /आनंदपुर :-

हमारा देश वीरों की भूमि है यह दुनिया अच्छी तरह से जानती है उस मां से पूछो जिसने अपना कलेजे का टुकड़ा खोया है उस पत्नी से पूछो जिसने अपना पति खोया है और उस बहन से पूछो जिसने अपना जवान भाई खोया,और उस नन्हे बच्चे से पूछो जिसने छोटी सी उम्र में अपना पिता किया हो इसीलिए तो कहते हैं कि भारत भूमि त्याग और बलिदान की भूमि है यहां पर हर बच्चा अपने देश की खातिर अपनी जान कुर्बान करने को तैयार रहता है

देश के वीर सपूतों को श्रद्धांजलि देते हुए

यह वाक्यांश ग्राम काछी खेड़ा में चल रही श्रीमद् भागवत कथा के तीसरे दिवस में श्री धाम वृंदावन से पधारे पंडित आनंद कृष्ण शास्त्री के मुखारविंद से कहे गए अवसर था शाम का समय जब कथा के दौरान उनके मन में विचार आया कि हमारे देश के 13 वीर सपूत हेलीकॉप्टर दुर्घटना में शहीद हो गए हैं उन्हें उनकी आत्मा शांति के लिए 2 मिनट का मौन धारण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी जाए तब सामाजिक संगठन जन चेतना मंच से संपर्क किया जन चेतना मंच ने इस आमंत्रण को तुरंत स्वीकार कर कार्यकर्ता गण ग्राम काछीखेड़ा पहुंचे और वहां पर पहुंचते ही पंडित आनंद कृष्ण शास्त्री जी को पुष्टाहार पुष्पमाला पहनाकर साफा बांधा और स्मृति चिन्ह भेंट कर उनका स्वागत सम्मान किया

फूल माला पहनाकर साफा बांधा और स्मृति चिन्ह भेंट करते हुए संगठन के कार्यकता

और तत्पश्चात 3 घंटे भक्त पहलाद की कथा का श्रवण किया इसके बाद ग्यारह सौ दीपों से पांडाल को सजाया गया और क्षेत्र के जाने-माने चित्रकार और पेंटर कभी कालूराम राव द्वारा देश के प्रथम सीडीएस बिपिन रावत जी का चित्र उकेरा गया इसके पश्चात सभी ने फूल माला अर्पित कर भावभीनी श्रद्धांजलि देकर ईश्वर से प्रार्थना की कि हमारे देश के वीर जवानों को शांति प्रदान करें इस अवसर पर सैकड़ों भक्त भक्त जनों की आंखें नम हो कर श्रद्धा सुमन अर्पित कर रही थी


इसी तरह एक दिवस पूर्व आनंदपुर के नजदीक ग्राम जावती में भी हनुमान मंदिर पर पेंटर द्वारा चित्रकारी की ओर संगठन के कार्यकर्ताओं द्वारा देश के 13 वीर जवानों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित कर आत्म शांति की कामना की

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!