विदिशा

जनजातीय गौरव दिवस के लिए सभी प्रकार की तैयारियां सुनिश्चित की जावे-मुख्यमंत्री

विदिशा :-
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वीसी के माध्यम से की जिलावार तैयारियों की समीक्षा, विदिशा में वीसी के उद्बोधन का कलेक्टर सहित अन्य ने किया अनुश्रवण

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि 15 नवम्बर को राज्य स्तरीय जनजातीय गौरव दिवस भगवान बिरसा मुंडा की जयंती पर आयोजित किया जा रहा है। राज्य स्तरीय समारोह भोपाल के जंबूरी मैदान में आयोजित किया जावेगा। इसलिए जनजातीय गौरव दिवस के लिए जिला कलेक्टर सभी प्रकार की तैयारियां सुनिश्चित करें। वे आज वीसी के माध्यम से प्रदेश के कलेक्टर्स, संभागायुक्त, विभागीय अधिकारियों को आज संबोधित कर रहे थे।
    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रधानमंत्री जनजातीय गौरव दिवस को संबोधित करेंगे। इसलिए गौरव दिवस के लिए सभी बुनियादी सुविधाएं मुहैया कराने के लिए जिला कलेक्टर व्यवस्थाएं करे। साथ ही संभागायुक्त इस कार्य की मॉनीटरिंग करें। उन्होने कह कि इस कार्यक्रम में किसान सम्मान निधि, पीएम आवास सहित अन्य योजनाओं के लाभान्वित हितग्राही भाग लेगें। साथ ही इस समारोह में प्रतिभागियों को लाने के लिए प्रभारी मंत्री, भाजपा के विधायक और जिला अध्यक्ष व्यवस्थाओं को कोर्डिनेट करेंगे। उन्होने कहा कि राज्य स्तरीय समारोह की भांति आदिवासी बाहुल्य पंचायतो में जनजातीय गौरव दिवस मनाया जावे। जिसमें स्थानीय जनप्रतिनिधि, पंचायतो के पदाधिकारी आमंत्रित किये जावे। साथ ही जनजातीय आदिवासी भाई-बहनों को राज्य स्तरीय कार्यक्रम को देखने और सुनने की डिटेल व लिंक एडवान्स प्रदान की जावे। इसी प्रकार कार्यक्रमों का व्यापक प्रचार-प्रसार कराया जावे। सोशल मीडिया पर भी आयोजित कार्यक्रम की पोस्ट डाली जावे।
    जनजातीय गौरव दिवस 15 नवम्बर 2021 को मनाने के लिए राज्य स्तर एवं जिला स्तर पर कन्ट्रोलरूम बनाया जावे। जिससे इन कन्ट्रोलरूमों के माध्यम से जानकारियों का आदान-प्रदान किया जावे। इस अवसर पर आयोजित कार्यक्रमों की थीम बोकल फॉर लोकल होगी। मुख्यमंत्री ने जनजातीय गौरव दिवस की तैयारियों की समीक्षा करते हुए जिलावार प्रतिभागियों को दिये गये टारगेट के अनुसार भोपाल लाने के कार्य की समीक्षा की। साथ ही प्रतिभागियों की संख्या पर चर्चा की। साथ ही प्रतिभागियों को लाने- ले जाने और ठहराने के लिए आवास स्थल पर सहभागियों की नियुक्ति के बारे में जानकारी दी।
    इसी प्रकार समारोह में धर्मगुरूओ से भी इस दौरान चर्चा की जावेगी। साथ ही महिला सशक्तिकरण की दिशा में स्वसहायता समूहों की भागीदारी सुनिश्चित की जावेगी। राज्य स्तरीय कार्यक्रम में ऐसे आदिवासी भाई-बहन जिनको शासन की योजनाओं का लाभ दिया गया है। उनको भी लाया जावे। उन्होने कहा कि जंबूरी मैदानी में प्रतिभागियो को लाने के लिए सुरक्षित परिवहन व्यवस्था की व्यवस्था की जावे। पंचायत स्तर पर आयोजित कार्यक्रम के दौरान राशन वितरण की भी व्यवस्था होनी चाहिए। जनजातीय गौरव दिवस के आयोजनों में विभिन्न जनजातीय के वर्गो की उपस्थिति सुनिश्चित होनी चाहिए। उन्होने कहा कि जनजातीय गौरव दिवस आंनन्द के प्रकटीकरण का माध्यम में उन्होने कहा कि प्रतिभागी जहां भी रूकेगें। वही पर वापसी कार्यक्रम के बाद होगी। जनभागीदारी से भोजन की व्यवस्था सुनिश्चित कराई जावे।
    मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान द्वारा जनजातीय गौरव दिवस मनाने के कार्य की समीक्षा वीसी के दौरान एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री उमाशंकर भार्गव, पुलिस अधीक्षक डॉ मोनिका शुक्ला, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ एपी सिंह सहित विभिन्न विभागों के अधिकारी मौजूद थे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!