विदिशा

अतिक्रमणकारियों के हौसले बुलंद मरघट साला की जमीन पर किया कब्जा, आनंदपुर में नहीं है एक भी व्यवस्थित शांति धाम, जनप्रतिनिधियों उदासीनता के कारण ग्रामवासी परेशान

शांति/मुक्ति धाम मंजूर भी हुआ, लेकिन ग्राम पंचायत की उदासीनता के चलते नहीं बनाया गया।

6000 से अधिक की आबादी पर एकमात्र शांति धाम उसकी भी जर्जर हालात व्यवस्थाएं कुछ भी नहीं, चारों ओर गंदगी का आलम पसरा

आनंदपुर डेस्क :

जनप्रतिनिधियों की उदासीनता के चलते आनंदपुर आज अपनी बदहाली पर आंसू बहाने को मजबूर है आनंदपुर ने क्या कुछ नहीं दिया यहां से दो बार विधायक दो ही बार जिला पंचायत उपाध्यक्ष और इसी क्षेत्र से जनपद अध्यक्ष दिए और पूरे सिरोंज लटेरी विधानसभा क्षेत्र की राजनीति का केंद्र बिंदु आनंदपुर आखिर अपनी बदहाली पर क्यों आंसू बहाने को मजबूर है यहां कागजों में तो काम होता है लेकिन धरातल पर कुछ भी दिखाई नहीं देता जिले में सबसे बड़ा ग्राम आनंदपुर है और यहां की आबादी लगभग 6000 से अधिक है लेकिन सुविधाओं के नाम पर  सिर्फ छलावा के अलावा कुछ भी नसीब नहीं है अभी बरसात का मौसम चल रहा है ऐसे में किसी भी परिवार में कोई व्यक्ति की मृत्यु हो जाए तो उस व्यक्ति का सुकून से अंतिम संस्कार भी नहीं किया जा सकता क्योंकि यहां होली के पास आरोन रोड पर एक मरघट साला की जमीन जो बरसों से है और यहीं पर ग्राम के 70% व्यक्ति मृत आत्माओं को अंतिम विदाई देने लाते हैं लेकिन आज उसकी दुर्दशा पर पूरे ग्राम वासी चिंतित हैं। 

दोनों मरघट सालों की भूमि पर अतिक्रमणकारियों का कब्जा –

 होली के पास आरोन रोड पर जहां सैकड़ों बरसों से आधे से अधिक ग्रामवासी अपने परिवार के किसी भी मृत व्यक्ति का अंतिम संस्कार यहीं पर करते हुए आए हैं लेकिन इस स्थान पर अभी तक एक व्यवस्थित मरघट साला का निर्माण नहीं हो सका अब तो इस मरघट साला की भूमि पर अतिक्रमणकारियों ने चारों ओर से कब्जा कर तार फेंसिंग कर अपने कब्जे में ले लिया है लेकिन जिम्मेदार है कि जरा भी ध्यान नहीं देते और एक स्थान कोल्हापुर रोड पर वहां पर भी लगभग 3 बीघा से अधिक मरघट मरघट साला की जमीन है उस पर भी अतिक्रमणकारियों ने अपना कब्जा जमा लिया है। दोनों ही और ना ही निकलने के लिए रास्ता है यदि ऐसे में पानी बरस रहा हो और घर में किसी की मृत्यु हो जाए तो उसे अंतिम विदाई भी नहीं दी जा सकती। 

6000 से अधिक की आबादी पर एकमात्र शांति धाम

बर्ष 2013-14 में बना एक मात्र मुक्तिधाम

 कहने को तो आनंदपुर में 6000 से अधिक की जनसंख्या है लेकिन इस जनसंख्या को देखते हुए यहां पर व्यवस्थित मरघट शाला भी नहीं है बर्ष 2013-14 में तत्कालीन सरपंच मुकेश सोनी ने शक्ति वाले कुए के पास एक मरघट साला का निर्माण कराया था और इससे पहले पूरे ग्राम में एक भी मरघट साला नहीं बनाई गई थी उस मरघट साला के आस पास चार पांच बीघा जमीन है लेकिन सुविधाओं के नाम पर वहां भी कुछ नहीं है सिर्फ मरघट साला ही है और तो और निकलने के लिए रास्ता और ना ही बैठने के लिए स्थान चारों ओर गंदगी का आलम पसरा हुआ है और पानी भरा हुआ है अंतिम संस्कार में गए हुए व्यक्ति सुकून से खड़े भी नहीं हो सकते

ग्राम के गणमान्य नागरिक सुरेश सोनी, बृजेश कुशवाहा गजेंद्र चौरसिया, अमित सोनी और सामाजिक संगठन जन चेतना मंच के अध्यक्ष धर्मेंद्र पाटीदार आदि ने बताया कि आनंदपुर में होली के पास जो मरघट साला की जगह है उस पर से अतिक्रमण हटना चाहिए और एक व्यवस्थित शांति धाम का निर्माण होना चाहिए उसके चारों ओर बाउंड्री बॉल बने बैठने के लिए पर्याप्त व्यवस्था हो और उस स्थान पर पेड़ पौधे भी लगाकर सौंदर्यीकरण किया जाना चाहिए, एक व्यवस्थित तरीके से शांति धाम का निर्माण जरूरी है आज स्थिति यह है कि उस मरघट साला की जमीन पर अतिक्रमणकारियों ने चारों ओर से कब्जा कर लिया है और तो और निकलने के लिए भी रास्ता नहीं बचा साथ ही बताया कि पूर्व में इस स्थान पर शांतिधाम निर्माण के लिए मंजूरी भी पंचायत द्वारा मिल चुकी थी लेकिन पंचायत की ढीलपोल और स्वार्थ पूर्ण मानसिकता के चलते शांति धाम का निर्माण नहीं कराया गया इसकी भी जांच होना चाहिए कि उसका पैसा निकाल कर कहीं पंचायत में तो नहीं दवा लिया। 

व्यवस्थित तरीके से बनाएंगे शांति धाम –

ग्राम के उपसरपंच हरीवल्लभ शर्मा ने बताया कि उस जगह अतिक्रमणकारियों का कब्जा है  शांति/मुक्ति धाम की भूमि को अतिक्रमणकरियों से मुक्त करा कर एक व्यवस्थित और सुसज्जित

 मुक्तिधाम का निर्माण कराएंगे जहां पर सारी व्यवस्थाएं होंगी और एक सुंदर और शांत शांति धाम का निर्माण कराएंगे जहां पर आदमियों को बैठने की भी पर्याप्त व्यवस्था पानी की और लकड़ी आदि की व्यवस्थाएं  कराई जाएंगी साथ ही वृक्ष रोपण कर उस जगह को हरा भरा और सौंदर्य बनाया जाएगा

एक सुव्यवस्थित मुक्तिधाम का निर्माण करवाया जाएगा और अतिक्रमणकारियों से जमीन भी मुक्त कराई जाएगी आनंदपुर में मुक्तिधाम बनना जरूरी है वार्ड नंबर 7 जनपद सदस्य राजकुमारी राजाराम अहिरवार

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

error: Content is protected !!